Kanpur weather News Update: टाक्टे के असर से मौसम सुहाना, बारिश ने गिराया पारा

कानपुर में बारिश के बाद मौसम सुहाना हो गया।

Tauktae Effect In UP सीएसए कृषि विश्वविद्यालय के मौसम वैज्ञानिक ने कहा टाक्टे का असर रहने से अगले दो दिन तक तापमान में उतार-चढ़ाव बना रहेगा। बारिश की भी संभावना है और बादल संग गरज के साथ बिजली गिरने की आशंका के चलते सावधानी बरतें।

Abhishek AgnihotriTue, 18 May 2021 01:52 PM (IST)

कानपुर, जेएनएन। अरब सागर से उठे समुद्री तूफान टाक्टे का आधी रात गुजरात के दक्षिणी तट से टकराने के बाद असर अब यूपी तक भी पहुंच गया है। रात में बूंदाबांदी के साथ सुबह आसमान में काले बादल छाए रहे। कुछ जगहों पर तेज बारिश हुई, वहीं कानपुर भी हल्की बारिश से सराबोर हो गया। सुबह बारिश के बाद दोपहर तक बूंदाबांदी जारी रही। चक्रवाती तूफान के आने के बाद तापमान में भी तेजी से गिरावट दर्ज की गई है, करीब एक दशक बाद मई में इतना कम तापमान दर्ज किया गया है।

चक्रवाती तूफान टाक्टे के गुजरात के समुद्री तट से टकराने के बाद महाराष्ट्र और गुजरात में भयावह रूप देखने को मिला है। तूफान का असर सोमवार की रात से ही यूपी में भी दिखाई देने लगा। मंगलवार सुबह से तेज हवाएं और आसमान में बादल छाए रहने से मौसम का मिजाज बदला रहा। सोमवार देर रात से शुरू हुई बारिश का सिलसिला मंगलवार तक चलता रहा।

लगातार कई घंटों तक चलीं ठंडी हवाओं व हल्की बारिश से मौसम सुहाना हो गया। सीएसए के मौसम वैज्ञानिक डॉ.एसएन सुनील पांडेय ने बताया कि अाने वाले दो दिनों तक तापमान में उतार-चढ़ाव का क्रम जारी रहेगा। बादल छाए रहने से अधिकतम तापमान में एक से दो डिग्री सेल्सियस की गिरावट भी होगी। सोमवार देर रात से लेकर मंगलवार सुबह दो से तीन मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है।

खीरा व तरबूज की फसलों के लिए अच्छा

मौसम का जो बदलाव होगा, वह खरीफ की फसलों- खीरा, ककड़ी, खरबूजा, तरबूज आदि के लिए एक ओर जहां मुफीद होगा, वहीं जिन किसानों का गेहूं खेतों में कटा रखा है उनके लिए नुकसानदेह हो सकता है। इसलिए वह सभी किसान गेहूं के गट्ठर को सुरक्षित स्थानों पर रख दें। दो दिनों में बादल गरजने के साथ ही बिजली भी चमकेगी। इसलिए किसान व आमजन पेड़ों और खंभों के नीचे न खड़े हों।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.