Gulmohar Apartment Murder: अय्याशी के अड्डे से कम नहीं फ्लैट नंबर-1006, फोरेंसिक टीम ने जुटाए कई सबूत

गुलमाेहर अपार्टमेंट की दसवीं मंजिल से दुष्कर्म के बाद युवती को फेंककर हत्या करने के मामले में गिरफ्तार डेयरी कारोबारी प्रतीक वैश्य का फ्लैट नंबर 1006 अय्याशी के अड्डे से कम नहीं है। फोरेंसिक टीम की जांच में कई अहम तथ्य मिले हैं।

Abhishek AgnihotriThu, 23 Sep 2021 10:46 AM (IST)
सभी साक्ष्य दुष्कर्म के बाद हत्या की ओर कर रहे इशारा।

कानपुर, जेएनएन। गुलमाेहर अपार्टमेंट की दसवीं मंजिल पर स्थित डेयरी कारोबारी प्रतीक वैश्य का फ्लैट नंबर 1006 किसी अय्याशी के अड्डे से कम नहीं था। घटना के बाद जब पुलिस और फोरेंसिक टीम ने फ्लैट से सबूत जुटाने शुरू किए तो प्रतीक की अय्याश जिंदगी के कई सबूत हाथ लगे। फोरेंसिक टीम ने इन सभी सबूतों को सुरक्षित कर लिया है, जो कि दुष्कर्म के बाद हत्या की ओर इशारा कर रहे हैं। फिलहाल इंतजार पोस्टमार्टम रिपोर्ट का है, जो जांच की अहम कड़ी साबित होगी। इस प्रकरण से जुड़े कई पहलुओं की पड़ताल की है, जिसके आधार पर साफ है कि प्रतीक की जिंदगी अय्याशी का प्रतीक थी।

बेंजाडीन टेस्ट : पुलिस ने आरोपित प्रतीक वैश्य का बेंजाडीन टेस्ट किया तो उसके हाथों में खून की मौजूदगी की पुष्टि हुई है।

निष्कर्ष : पुलिस का निष्कर्ष है कि फ्लैट के अंदर जरूर खूनी खेल खेला गया होगा। अनुमान है कि मृतका और प्रतीक के बीच झड़प में खून निकला होगा, जिसकी मौजूदगी उसके हाथों में पाई गई।

चप्पल, घड़ी और हेयर पिन : पुलिस और फोरेंसिक टीम को मृतका की घड़ी, हेयर पिन और चप्पलें बालकनी से करीब साढ़े छह मीटर दूर मिलीं।

निष्कर्ष : मृतका की चप्पलें, घड़ी व हेयर पिन कमरे में नीचे पड़ी मिली हैं। यानी जोर जबरदस्ती हुई होगी। इसमें ही चप्पलें व हेयरपिन निकल गई होंगी और घड़ी टूटकर बाहर गिरी होगी।

महिलाओं के बाल : प्रतीक अपने घर में अकेला रहता था। बावजूद फोरेंसिक टीम को उसके बेडरूम व बाथरूम से महिलाओं के लंबे बाल बड़ी संख्या में मिले हैं।

निष्कर्ष : फोरेंसिक टीम ने सभी बालों को सुरक्षित कर लिया है। बालों का डीएनए केस की अहम कड़ी साबित होगी। अगर बेड पर मिले बाल युवती के डीएनए से मैच कर गए तो साबित हो जाएगा कि प्रतीक उसे बेड तक ले गया था।

अय्याशी के सामान : पुलिस को प्रतीक के बेडरूम से प्रयोग किए गए व पैक्ड चाकलेट फ्लेवर कंडोम मिले हैं। बढ़ाने वाली तमाम दवाएं भी मिली हैं।

निष्कर्ष: प्रतीक अय्यास था और पूर्व में भी वह अपने फ्लैट में महिलाओं को लेकर उनके साथ दुष्कर्म कर चुका था। प्रयोग किए गए कंडोम इसकी गवाही देर रहे हैं।

फोरेंसिक टीम करेगी सीन रिप्ले, तब होगा फैसला

फोरेंसिक टीम अभी अंतिम निष्कर्ष पर नहीं पहुंची है। अंतिम निष्कर्ष से पहले फोरेंसिक टीम सीन रिप्ले करेगी। इसके तहत मृतका के भार के बराबर एक डमी दसवीं मंजिल से फेंकी जाएगी। डमी को एक बार आत्महत्या व एक बार हत्या के इरादे से नीचे फेंका जाएगा। उसे कहां-कहां चोट लगेगी, इसका मिलान पोस्टमार्टम रिपोर्ट से होगा। इसके बाद ही फोरेंसिक रिपोर्ट अंतिम निष्कर्ष पर पहुंचेगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.