मेट्रो प्रबंधन ने नहीं माने कानपुर पुलिस के सुझाव, समस्या से जूझ रही जनता

कानपुर मेट्रो ने की पुलिस की बात की अनसुनी।

कानपुर पुलिस के सुझाव देने के बाद भी अबतक रास्ते दुरुस्त नहीं किए गए हैं। मेट्रो अधिकारियों को बुलाकर पुलिस अधिकारियों ने बातचीत की थी और मुख्य रास्तों को ठीक कराने और पेड़ की जड़ें हटाने को कहा गया था।

Publish Date:Sat, 16 Jan 2021 01:57 PM (IST) Author: Abhishek Agnihotri

कानपुर, जेएनएन। यातायात व्यवस्था में बदहाली के प्रमुख कारणों में सड़कों की बदहाली भी शामिल हैं। पिछले दिनों एसपी पश्चिम व एसपी ट्रैफिक ने मेट्रो अधिकारियों को बुलाकर मुख्य रास्तों को ठीक कराने के लिए कहा था, लेकिन अभी तक एक भी रास्ता ठीक नहीं हो सका है। हैलट के मुख्य गेट के दोनों तरफ वृक्षों की जड़ें आधी बाहर निकली हुई हैं। इन्हें भी अब तक हटाया नहीं जा सका।

एसपी ट्रैफिक बसंतलाल ने बताया कि बेनाझाबर से मोतीझील के बीच दोनों तरफ के रास्ते को ठीक कराने के लिए कहा गया था। इसी तरह रावतपुर स्टेशन से लेकर गोल चौराहे के बीच भी सड़क की मरम्मत कराने का सुझाव दिया था, लेकिन इस पर अमल नहीं किया गया। हालांकि मेट्रो अधिकारियों ने रावतपुर क्रॉसिंग से स्टेशन के बीच की कुछ सड़क बनवाई है। इसी तरह पोस्टमार्टम हाउस से लेकर हैलट के दूसरे गेट तक सड़क चौड़ी कराने का भी सुझाव दिया गया था। रास्ता संकरा होने के कारण अक्सर वाहन यहां फंसते हैं।

फुटपाथ से अतिक्रमण हटवाने की नहीं बनी कार्ययोजना

पुलिस अब तक फुटपाथ से अतिक्रमण व दुकानें हटवाने की कार्ययोजना नहीं बना सकी है। गोल चौराहे से लेकर शारदानगर क्रॉसिंग  तक दोनों तरफ दुकानों का सामान फुटपाथ पर होने से रोजाना वाहन सवारों को जाम से जूझना पड़ रहा है। रावतपुर स्टेशन के सामने ठेले, पान की गुमटियों भी जाम का कारण बनती हैं। रावतपुर क्रॉसिंग के पास भी यही स्थिति है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.