माता जी मैं भी हूं आपका बेटा... दुखियारी मां के आंसू पोंछते कानपुर के दारोगा का Video Viral

Kanpur Police Video Viral विवादों के घेरे में रहने वाली कानपुर पुलिस ने इस बार काफी सराहनीय कार्य किया है। बहू औ बेटे से प्रताड़ित किए जाने वाली एक बूढ़ी मां की मदद करने के लिए स्वयं गोविंद नगर थाना प्रभारी उनके घर पहुंचे।

Shaswat GuptaPublish:Sat, 20 Nov 2021 06:48 PM (IST) Updated:Sat, 20 Nov 2021 06:48 PM (IST)
माता जी मैं भी हूं आपका बेटा... दुखियारी मां के आंसू पोंछते कानपुर के दारोगा का Video Viral
माता जी मैं भी हूं आपका बेटा... दुखियारी मां के आंसू पोंछते कानपुर के दारोगा का Video Viral

कानपुर, जागरण संवाददाता। Kanpur Police Video Viral  दागदार किरदार के लिए जानी जाने वाली यूपी पुलिस ने इस बार ऐसा काम किया है कि कानपुरवासी उनकी प्रशंसा करते नहीं थक रहे। दरअसल वाकया कुछ यूं था कि...मैं असहाय हूं, बेड़ा बेटा और बहू प्रताडि़त करते हैं। इतना कहकर 70 वर्षीय दादा नगर निवासी महिला फफक कर रो पड़ी। इस पर गोविंद नगर थाना प्रभारी रोहित तिवारी ने उन्हें गले से लगाकर शांत कराते हुए कहा कि माता जी आप परेशान मत हों। मैं भी आपका बेटा हूं। अब आपको कोई परेशान नहीं करेगा। पुलिस कमिश्नरेट के गोविंद नगर थाने के प्रभारी ने बुजर्ग महिला की शिकायत पर कार्रवाई की।

थाना प्रभारी के मुताबिक दादा नगर निवासी वृद्धा प्रथमिक विद्यालय में शिक्षिका के पद से सेवानिवृत्त हैं। आरोप था कि उनके बड़े बेटे और बहू ने दुकान हड़प ली। जिसके चलते वह छोटे बेटे के साथ रहती हैं। आरोप है कि बड़ा बेटा और बहू उनकी संपत्ति हड़पना चाहते हैं। शुक्रवार रात बेटे-बहू ने मिलकर उन्हें और छोटे बेटे को पीटकर घर से निकाल दिया। वृद्धा की आपबीती सुनकर थाना प्रभारी भावुक हो उठे। उन्होंने पीड़िता की तहरीर पर मारपीट और धमकी की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर बड़े बेटे का शांतिभंग में चालान कराया। 

कानपुर पुलिस आयुक्त भी कर चुके एक दंपती की मदद : शहर की जेके कालोनी निवासी बुजुर्ग अनिल कुमार शर्मा पत्नी के अलावा बेटे अभिषेक और बहू के साथ रहते हैं। कुछ महीने पहले अनिल का बेटे और बहू से झगड़ा हो गया था। उनका आरोप था कि विवाद के बाद बेटे आैर बहू ने उनके साथ मारपीट की। इस प्रकरण पर बुजुर्ग दंपती ने चकेरी थाने में बेटे और बहू के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। उत्पीडऩ से आहत दंपती ने इसकी शिकायत थाने और डीसीपी पूर्वी की जनसुनवाई में भी की। हद तो तब हो गई बेटे और बहू ने मारपीट कर माता-पिता को घर से निकाल दिया था। पीड़ित दंपती इसके बाद पुलिस कमिश्नर की चौखट पर पहुंचे। मामले की हकीकत जानने जब पुलिस कमिश्नर असीम अरुण उनके घर पहुंचे तो बुजुर्ग दंपती ने बताया कि बेटे और बहू ने उनके सामान पर कब्जा कर लिया है। पुलिस कमिश्नर ने उन दो कमरों पर ताले देखे तो उनका शक यकीन में बदल गया। इस पर उन्होंने बहू से दोनों कमरों के ताले खुलवाये। वहीं उन्होंने बुजुर्ग दंपती को घर में रहने की बात कहते हुए अपना नंबर दिया और दोबारा परेशानी होने पर तत्काल सूचना देने की बात कही।