कानपुर बार चुनाव: बार काउंसिल और एल्डर्स कमेटी के बीच फंसे प्रत्याशी, दो डेट में होना है चुनाव

बार एसोसिएशन के चुनाव में ऐसा पहली बार नहीं है जब यूपी बार काउंसिल ने हस्तक्षेप किया है।इससे पहले भी यूपी बार काउंसिल ने ऐन मौके पर मतदान प्रक्रिया को रोक दिया था।इससे पहले बीते वर्षों में जब भी चुनाव हुए विवाद बिना यह पूर्ण नहीं हुआ।

Abhishek AgnihotriWed, 01 Dec 2021 02:26 PM (IST)
छह और सात दिसंबर को होना है चुनाव के लिए नामांकन।

कानपुर, जागरण संवाददाता। बार एसोसिएशन चुनाव को लेकर यूपी बार काउंसिल और एल्डर्स कमेटी आमने सामने है। यूपी बार काउंसिल के सदस्य ने जहां आमसभा में पुन: एल्डर्स कमेटी के गठन की बात कही वहीं एल्डर्स कमेटी ने आदेश न मिलने की बात कहते हुए तय समय पर चुनाव कराने का मन बना लिया है। यूपी बार काउंसिल और एल्डर्स कमेटी के बीच चल रही इस खींचतान ने चुनाव लड़ रहे तमाम प्रत्याशियों के लिए असमंजस की स्थिति पैदा कर दी।

बार एसोसिएशन के चुनाव में ऐसा पहली बार नहीं है जब यूपी बार काउंसिल ने हस्तक्षेप किया है। इससे पहले भी यूपी बार काउंसिल ने ऐन मौके पर मतदान प्रक्रिया को रोक दिया था। इससे पहले बीते वर्षों में जब भी चुनाव हुए, विवाद बिना यह पूर्ण नहीं हुआ।इस वर्ष भी कुछ ऐसा ही हो रहा है। सबसे पहले एल्डर्स कमेटी के बीच विवाद शुरू हुआ।जब यह शांत हुआ तो कुछ अधिवक्ताओं ने यूपी बार काउंसिल में एल्डर्स कमेटी की क्षमता पर सवाल उठाते हुए चेयरमैन धर्मवीर सिंह गौर के इस्तीफे की प्रति भी भेज दी। हालांकि चेयरमैन ने बाद में इस्तीफा वापस ले लिया था लेकिन यूपी बार काउंसिल में यह मुद्दा बन गया। अधिवक्ताओं की शिकायत और इस्तीफा पत्र पर यूपी बार काउंसिल ने एल्डर्स कमेटी और बार एसोसिएशन के पदाधिकारियों को तलब कर लिया।एल्डर्स कमेटी की ओर से कोई नहीं पहुंचा जबकि बार एसोसिएशन ने अपना पक्ष रखा।

जिसके बाद मामला सुनवाई करने वाले समिति के सदस्यों ने आमसभा बुलाकर नई एल्डर्स कमेटी चयन का निर्देश पदाधिकारियों को दिया हालांकि आदेश नहीं भेजा।यह खबर कचहरी में आग की तरह फैली जिस पर हंगामा शुरू हो गया।एल्डर्स कमेटी ने भी बैठक बुलायी और प्रत्याशियों के प्रतिवेदन लेकर चुनाव समय पर कराने का एलान कर दिया।इन सबके बीच बार एसोसिएशन का चुनाव लड़ रहे दावेदार परेशान हैं।उनके बीच असमंजस जैसी स्थिति पैदा हो गई है।बावजूद इसके यूपी बार काउंसिल ने इस पर अभी तक अपना कोई निर्णय स्पष्ट नहीं किया। जिसके चलते असमंजस की स्थिति बढ़ती जा रही है।बता दें नामांकन छह और सात दिसंबर को होना है जबकि मतदान 17 दिसंबर को संपन्न कराया जाएगा।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.