एलएलआर के ट्रामा सेंटर में होगी जबड़े की भी सर्जरी, दंत रोग विभाग के दो सीनियर रेजीडेंट के पद स्वीकृत

इसमें आर्थो डेंटिस्ट एवं फेसियो मेग्जलरी सर्जन का पद सृजित करने का आग्रह किया गया था। शासन ने दंत रोग विभाग में दो सीनियर रेजीडेंट और एक जूनियर रेजीडेंट का पद स्वीकृत कर दिया है। इसकी सूचना ईमेल के जरिए बुधवार को प्राचार्य प्रो. संजय काला को दी है

Akash DwivediFri, 03 Sep 2021 09:15 AM (IST)
इसकी सूचना ईमेल के जरिए बुधवार को प्राचार्य प्रो. संजय काला को दी

कानपुर, जेएनएन। जीएसवीएम मेडिकल कालेज के एलएलआर अस्पताल (हैलट) के इमरजेंसी ब्लाक स्थित ट्रामा सेंटर में हादसे में टूटे जबड़े एवं उबड़-खाबड़ दांतों की भी सर्जरी संभव होगी। इसके लिए शासन ने अस्पताल के लेवल-टू ट्रामा सेंटर में दंत रोग विभाग में दो सीनियर रेजीडेंट के पद स्वीकृत कर दिए हैं। एलएलआर अस्पताल में लेवल-टू ट्रामा सेंटर है, जहां नगर ही नहीं आसपास के 10-12 जिलों से हादसे में गंभीर घायल इलाज के लिए आते हैं। कइयों के दांत पूरी तरह उखड़ जाते हैं। ट्रामा सेंटर में दंत रोग विशेषज्ञ नहीं होने पर उनकी सर्जरी में दिक्कत होती थी। ट्रामा सेंटर के नोडल अफसर ने तत्कालीन प्राचार्य प्रो. आरबी कमल के माध्यम से शासन को प्रस्ताव भेजा था। इसमें आर्थो डेंटिस्ट एवं फेसियो मेग्जलरी सर्जन का पद सृजित करने का आग्रह किया गया था। शासन ने दंत रोग विभाग में दो सीनियर रेजीडेंट और एक जूनियर रेजीडेंट का पद स्वीकृत कर दिया है। इसकी सूचना ईमेल के जरिए बुधवार को प्राचार्य प्रो. संजय काला को दी है।

ट्रामा सेंटर में है तैनाती : न्यूरो, आर्थोपेडिक व जनरल सर्जन, एनस्थेसिया विशेषज्ञ। अब दंत रोग विशेषज्ञ भी होंगे तैनात।

छावनी में फाइब्रोस्कैन मशीन से होगी गैस्ट्रो मरीजों की जांच : छावनी अस्पताल में गैस्ट्रो से पीडि़त मरीजों की जांच फाइब्रोस्कैन मशीन से होगी।जल्द ही यह मशीन आ जाएगी।मरीजों की जांच के लिए पीजीआइ, बीएचयू और मेडिकल कालेज लखनऊ के विशेषज्ञ डाक्टर मौजूद रहेंगे। इसके साथ ही प्रत्येक सप्ताह के शनिवार और रविवार को कोरोना फाइटर्स के लिए निश्शुल्क ओपीडी संचालित की जाएगी।

छावनी बोर्ड द्वारा संचालित सार्वजनिक चिकित्सालय में एक माह पूर्व तक सामान्य ओपीडी होती थी।वर्तमान में यहां इलाज की कई और सुविधाएं शुरू की गई हैं। इसमें छोटे आपरेशन के साथ ही गर्भवती महिलाओं की सर्जरी से डिलीवरी शामिल है। छावनी बोर्ड अस्पताल में गैस्ट्रो से पीडि़त मरीजों के इलाज की व्यवस्था शुरू करना चाहता है। इसके लिए लीवर और पेट की सटीक स्थिति जांचने के लिए फाइब्रोस्कैन मशीन लगाने की तैयारी हो रही है। अस्पताल के प्रशासकीय प्रबंधक डॉ. नितिन राजपूत ने बताया कि निजी लैब से यह जांच काफी महंगी है, जबकि छावनी अस्पताल में यह जांच निश्शुल्क की जाएगी। प्रत्येक सप्ताह कोरोना फाइटर्स के लिए निश्शुल्क ओपीडी होगी। आगामी चार और पांच सितंबर को भी शिविर लगेगा। इसमें सेना के जवान, बैंक कर्मियों, पुलिस समेत अन्य सभी विभाग जो कोरोना फाइटर्स की श्रेणी में हैं, उनका और उनके स्वजनों का निश्शुल्क रजिस्ट्रेशन होगा। इसके लिए लोग फोन नंबर 7565989628, 6388316638 पर संपर्क कर सकते हैं।

ट्रामा सेंटर में दंत रोग के दो एसआर के पद स्वीकृत हो गए हैं। अब हादसे में घायलों के टूटे जबड़े एवं दांतों की सर्जरी भी यहां संभव होगी। घायलों को केजीएमयू भेजने की जरूरत भी नहीं होगी। उनकी तैनाती के लिए जल्द ही प्रक्रिया शुरू होगी। - डा. मनीष सिंह, विभागाध्यक्ष, न्यूरो सर्जरी, जीएसवीएम मेडिकल कालेज।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.