सट्टे में हारी रकम तो 15 साल की उम्र में प्रखर बन गया बारूद का सौदागर Kanpur News

कानपुर, जेएनएन। बिधनू के द्विवेदी नगर में विस्फोटक उतारते समय हुए धमाके में छात्र की मौत का मुख्य आरोपित प्रखर 11वीं कक्षा में पढ़ाई के दौरान ही गलत संगत में पड़ गया था। 15 वर्ष की उम्र में वह सट्टा खेलने लगा और हार होने पर नुकसान की भरपाई के लिए बारूद व पटाखों का काम शुरू किया। मोटा मुनाफा देख धंधा बढ़ाया और उसने 80 हजार रुपये का माल खरीदकर दीपावली पर बेचने की योजना बनाई थी।

पिता के घर छोडऩे पर बिगड़ी प्रखर की संगत

मूलरूप से नर्वल के पाली बेहटा गांव निवासी प्रखर के पिता श्रीराम साहू ट्रक चलाने के साथ तंत्रमंत्र का काम करते हैं। परिवार में अनबन के चलते वह इन दिनों प्रयागराज में हैं। पांच वर्ष पूर्व वह घर आए थे, फिर कभी संपर्क नहीं किया। पिता की गैरमौजूदगी में प्रखर और उसके भाई नमन की संगत बिगड़ गई। प्रखर ने बताया कि वह 15 साल की उम्र से ही सट्टा खेलने और खिलवाने लगा। नुकसान होने पर काम बंद कर दिया और किदवईनगर के एक व्यापारी की कार चलाने लगा। 2016 में मझावन, रमईपुर व माधव बाग से देसी पटाखे लाकर ठेले पर बेचे। मुनाफा अच्छा देख खुद ही पटाखे बनाने लगा और शादी समारोह में भी आतिशबाजी का ऑर्डर लेने लगा। वर्ष 2018 में इंटर की परीक्षा में फेल होने पर बड़े पैमाने पर काम शुरू कर दिया।

इस तरह हुई थी घटना

बिधनू के द्विवेदी नगर स्थित सुमन वर्मा के मकान में पिछले दो वर्ष से मां संतोष के साथ रहकर पटाखा फैक्ट्री चला रहे प्रखर व नमन सोमवार को हमीरपुर से बस के जरिए बोरों में पटाखे व बारूद की खेप लाए थे। समाधि पुलिया के पास बोरे उतारकर ई-रिक्शा में लादकर दोनों घर आए और पड़ोस में बैठे इंटरमीडिएट के छात्र सागर को बोरे उतारने के लिए बुला लिया। सागर दैमार से भरी बोरी उतारकर चलने लगा। तभी बोरी फिसलकर गिरी और तेज धमाका हुआ। हादसे में प्रखर, नमन, सागर के अलावा दूसरे कमरे में मौजूद अमित व बाहर खड़ा ई रिक्शा चालक भी घायल हो गया। देर रात एलएलआर अस्पताल (हैलट) में सागर की मौत हो गई।

मौदहा से लाया था बारूद

द्विवेदीनगर के मकान में सोमवार शाम हुआ धमाका मौदहा (हमीरपुर) से खरीदकर लाए गए 80 हजार रुपये के बारूद से हुआ था। धमाके में पड़ोसी इंटरमीडिएट के छात्र सागर गुप्ता की मौत हो गई थी। मंगलवार को पुलिस ने पटाखा फैक्ट्री चलाने वाले दोनों भाई प्रखर और नमन साहू को महाराजपुर के सिकठिया से गिरफ्तार कर लिया। प्रखर की निशानदेही पर पुलिस ने मौदहा में छापा मारकर भारी मात्रा में बारूद, दैमार व सुतली बम बरामद कर एक महिला को हिरासत में लिया है। सागर के परिजन की तहरीर पर दोनों भाइयों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या व विस्फोटक अधिनियम की धारा में मुकदमा दर्ज किया गया है।

मौदहा में हुई थी शाहरुख से मुलाकात

दो वर्ष पूर्व समाधि पुलिया स्थित एक स्वीट हाउस संचालक ने मौदहा के शादी समारोह में आइसक्रीम व पानी सप्लाई का ठेका लिया था। प्रखर लोडर से वहां सप्लाई देने पहुंचा। वहीं उसकी मुलाकात आतिशबाज शाहरुख और उसके पिता मकसूद से हुई। पिता-पुत्र ने उसे काम शुरू करने के लिए कहा और प्रखर शादी समारोह में आतिशबाजी के आर्डर उन दोनों को देने लगा।

10 फीसद ब्याज पर उधार लिए थे एक लाख रुपये

प्रखर ने दीपावली पर कारोबार के लिए परिचितों से एक लाख रुपये दस फीसद ब्याज पर उधार लिए थे। इसी रकम से 80 हजार रुपये का माल खरीदा था। प्रखर ने बताया कि दो रुपये 80 पैसे के हिसाब से दैमार व सुतली बम खरीदे थे, जो कि पिछले वर्ष की अपेक्षा 80 पैसे महंगा मिला था। थोक में इसकी बिक्री पांच रुपये और फुटकर में आठ रुपये की होती है।

इस तरह पकड़ में आए प्रखर और नमन

विस्फोट में घायल होने पर इलाके के एक नर्सिंगहोम में भर्ती प्रखर और नमन फरार हो गए। पुलिस ने मंगलवार सुबह दोनों को महाराजपुर सिकठिया गांव में उनके मामा के घर से पकड़ लिया। दोनों से पूछताछ कर बिधनू थानाप्रभारी सुखराम रावत ने हमीरपुर के मौदहा में स्थानीय पुलिस के साथ छापा मारा। ईदगाह के पीछे मकसूद अहमद खान के मकान में अवैध पटाखा फैक्ट्री चलती मिली। थाना प्रभारी ने बताया कि बारूद व पटाखों के नमूने लेकर बाकी माल नष्ट कर दिया गया है। एसपी ग्रामीण प्रद्युम्न सिंह ने बताया कि विस्फोट के मामले में प्रखर व उसके भाई नमन के खिलाफ गैरइरादतन हत्या व विस्फोटक अधिनियम की धारा में मुकदमा दर्ज किया गया है। प्रखर और नमन से पूछताछ चल रही है।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.