जमीनी सच्चाई : सड़क पर गंदगी के ढेर से गायब हो गए हैं आधे रास्ते, क्षेत्रीय लोगों में आक्रोश

एनजीटी के आदेश पर नगर निगम ने सिद्धनाथ घाट समेत कई स्थानों से कूड़ाघरों को हटा दिया था लेकिन अभी भी तमाम जगह खुले में कूड़ाघर हैं। सड़क पर ही गंदगी पड़ी होने के कारण आधा रास्ता तक गायब हो गया है।

Akash DwivediMon, 19 Jul 2021 11:15 AM (IST)
गंदगी और बदबू के बीच में निकलना मुश्किल हो जाता है

कानपुर, जेएनएन। एनजीटी के आदेश पर भी गंगा से जुडऩे वाले रास्तों को नगर निगम ने कूड़ा मुक्त नहीं किया है। इसके चलते घाट तक पहुंचने के लिए लोगों को मशक्कत करनी पड़ती है। गंदगी और बदबू के बीच में निकलना मुश्किल हो जाता है। लोगों में आक्रोश है।

एनजीटी के आदेश पर नगर निगम ने सिद्धनाथ घाट समेत कई स्थानों से कूड़ाघरों को हटा दिया था, लेकिन अभी भी तमाम जगह खुले में कूड़ाघर हैं। सड़क पर ही गंदगी पड़ी होने के कारण आधा रास्ता तक गायब हो गया है। गंदगी के करण बेसहारा जानवरों का जमावड़ा लगा रहता है। भैरोघाट का रास्ता, भैरोघाट चौराहा वीआइपी रोड और रानी घाट चौराहा वीआइपी रोड से जुड़ता है। दोनों तरफ ही कूड़ाघर होने के कारण लोगों को आने जाने के लिए पहले गंदगी से जूझना पड़ता है। सरसैया घाट में भी वीआइपी रोड से अंदर जाने पर गंदगी फैली रहती है। बुढिय़ा घाट के आसपास भी गंदगी फैल रहती है।

खुले में डाली जा रही सामग्री, नगर निगम को नहीं दिख रही : एनजीटी का स्पष्ट आदेश है कि इमारतों के निर्माण के समय हरा परदा लगाया जाए। इसके अलावा खुले में निर्माण सामग्री और मलबा नहीं डाला जाए। तिरपाल से ढककर रखा जाए। स्थित यह है कि शहर में जगह-जगह खुले में निर्माण सामग्री पड़ी मिल जाएंगी। खुद सरकारी तंत्र तक निर्माण के समय सामग्री ढककर नहीं रख रहा है। पीरोड, शारदानगर, बृजेंद्र स्वरूप पार्क, स्वरूप नगर, आर्यनगर, आचार्य नगर, गांधीनगर, जवाहर नगर, अशोक नगर, पनकी, गुमटी नंबर पांच समेत क जगह सामग्री फैली मिल जाएगी।

यहां बने आधुनिक कूड़ाघर नहीं फैलते गंदगी : चुन्नीगंज, जनता नगर पुलिस चौकी बर्रा तीन, कृष्णा नगर, भैरोघाट, पनकी-कल्याणपुर समेत कई जगह आधुनिक कूड़ाघर बने हैं। बंद कूड़ाघरों में कंपैक्टर रखे रहते हैं। कर्मचारी वाहन से कूड़ा लाकर सीधे कंपैक्टर में डाल देते है। यहां से सीधे कूड़ा उठकर प्लांट पहुंच जाता है। ऐसे आधुनिक कूड़ाघर नगर निगम और बनाने जा रहा है।

शास्त्रीनगर में गंदगी का अंबार : शास्त्रीनगर में जनता ने कूड़ाघर हटा दिए है। क्षेत्र में कूड़ा रखने का संकट खड़ा हो गया है। एक जगह कूड़ा एकत्र न होने के कारण गंदगी उठ नहीं पा रही है। जनता कंपैक्टर नहीं रखने दे रही है और नहीं कूड़ाघर बनाने दे रही है। इसके चलते २७ दिन से क्षेत्र में गंदगी क संकट है।

इनका ये है कहना

भैरोघाट और सरसैया घाट में आधुनिक कूड़ाघर बनाया जाएगा। कंपैक्टर में सीधे कूड़ा डालकर उठा लिया जाएगा। इससे गंदगी और बदबू नहीं होगी। शास्त्रीनगर में शनिवार को कंपैक्टर भेजा था, लेकिन लोग खड़ा नहीं होने दे रहे हैं। ऐसे में कूड़ा उठाने में दिक्कत आ रही है। - डा.अजय संखवार, नगर स्वास्थ्य अधिकारी

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.