गंगा लिंक एक्सप्रेस- वे से जुड़ेगी बड़ा चौराहा- रामादेवी एलीवेटेड रोड, कानपुर एयरपोर्ट जाना होगा आसान

एक्सप्रेस वे और एलीवेटेड रोड सिंगल पिलर पर बनेगा इसके सर्वे की तैयारी शुरू की जा रही है। एक्सप्रेस वे वाले मार्ग की सड़क को चौड़ा किया जाएगा ताकि यातायात अवरुद्ध न हो सके।एयरपोर्ट तक आवागमन को सुगम बनाने के लिए दोनों को जोड़ने पर फैसला जल्द हो सकता है।

Abhishek AgnihotriFri, 03 Dec 2021 11:16 AM (IST)
गंगा लिंक एक्सप्रेस- वे से जुड़ेगी बड़ा चौराहा- रामादेवी एलीवेटेड रोड। प्रतीकात्मक फोटो।

कानपुर, जागरण संवाददाता। जीटी रोड पर प्रस्तावित फोर लेन के एलीवेटेड रोड को इनर रिंग रोड के रूप में प्रस्तावित गंगा लिंक एक्सप्रेस- वे से भी जोड़ा जाएगा। दोनों  सड़कें जरीब चौकी में एक दूसरे से लिंक होंगी। इससे चकेरी एयरपोर्ट पर भी आना जाना आसान हो जाएगा। जल्द ही मंडलायुक्त द्वारा गठित कमेटी एक्सप्रेस- वे के लिए सड़क का सर्वे करेगी तो इस जरीब चौकी पर इसे एलीवेटेड रोड से कैसे जोड़ा जाएगा इसकी संभावना भी तलाशेगी। इसके बाद प्रस्ताव मंडलायुक्त के समक्ष रखा जाएगा। 

2013 में आइआइटी से डीआइजी पीएसी आवास तक एलीवेटेड रोड की योजना बनी थी। इसका खाका मंडलायुक्त की अध्यक्षता वाली उच्च स्तरीय समग्र विकास समिति की बैठक में खींचा गया था। तब समन्वयक नीरज श्रीवास्तव द्वारा पेश किए प्रोजेक्ट को भूतल एवं परिवहन मंत्रालय से मंजूरी मिल गई थी और इसे वार्षिक प्लान में शामिल करते हुए सर्वे भी कराया गया था, लेकिन अंडरग्राउंड पाइप लाइन, सीवर लाइन, दूर संचार विभाग की केबिलों की शिफ्टिंग में आने वाला खर्च अधिक होने की वजह से इसे रोक दिया गया था। अब फिर समिति की पहल पर गोल चौराहा से रामादेवी  तक एलीवेटेड रोड का प्रोजेक्ट तैयार किया गया है। डिटेल प्रोजेक्ट प्रोजेक्ट रिपोर्ट बनाने के लिए कंसलटेंट का चयन भी हो गया है। जल्द ही एनएच पीडब्ल्यूडी और कंसलटेंट के बीच करार होगा। इसके बाद कंसलटेंट कहां - कहां रैंप उतरेगी इसका सर्वे करेगा। यह प्रोजेक्ट शहर के लिए कापी अहम है ऐसे में नए वित्तीय वर्ष में इसके बजट को मंजूरी मिल सकती है। तब तक गंगा लिंक एक्सप्रेस वे भी मंजूर हो जाएगा। पिछले दिनों मंडलायुक्त डा. राजशेखर की अध्यक्षता में हुई बैठक में पुलिस आयुक्त असीम अरुण ने एक्सप्रेस वे को एलीवेटेड रोड से जोड़ने का प्रस्ताव दिया था। ताकि लोग आसानी से चकेरी एयरपोर्ट तक पहुंच जाएं।

मंडलायुक्त ने केडीए और पीडब्ल्यूडी के मुख्य अभियंता और समन्वयक नीरज श्रीवास्तव की कमेटी बनाई है। कमेटी के सदस्य जल्द ही एक्सप्रेस वे के अलाइनमेंट का निरीक्षण करेंगे ताकि यह पता चल सके कि पिलर बनने के बाद कहीं सड़क पर यातायात अवरुद्ध तो नहीं होगा। हालांकि कमेटी यह भी देखेगी कि सड़क को कहां- कहां चौड़ा किया जा सकता है ताकि एलीवेटेड एक्सप्रेस वे पर यातायात तो फर्राटा भरे ही नीचे भी उसका संचालन सुचारु रहे। एक्सप्रेस वे और एलीवेटेड रोड सिंगल पिलर पर बनेंगे। हालांकि जहां से ये गुजरने हैं वहां पिलर बनने से नीचे यातायात पर कोई दिक्कत नहीं आएगी। एक्सप्रेस वे विजय नगर, से सीएसएजेएमयू के पास जीटी रोड से मकड़ीखेड़ा जाने वाले मार्ग से होते हुए गंगा बैराज , झाड़ीबाबा पड़ाव पुल, मालरोड, घंटाघर, जरीब चौकी होते हुए फजलगंज से फिर विजय नगर पहुंच कर जुड़ेगा। इसे विजय नगर में ही एलीवेटेड रोड से जोड़ा जाएगा। 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.