फतेहपुर में तीन माह पहले चोरी गईं राधाकृष्ण की मूर्तियां बरामद, एसपी बोले- अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत एक करोड़ रुपये

सराहनीय कार्य के लिए पुलिस टीम को 25 हजार रुपये से पुरस्कृत किया है

राधा-कृष्ण की प्राचीन मूर्ति खोटिला गांव में पूर्व प्रमुख सुधीर सिंह के आवास मे बने ठाकुर द्वारा में स्थापित थीं। दस फरवरी की सुबह स्वजन पूजन को गए तो मंदिर से राधा-कृष्ण समेत पांच मूर्तियां गायब थीं। मूर्ति चोरी के मुकदमे के बाद पुलिस खोजबीन करती रहीं

Akash DwivediMon, 19 Apr 2021 06:35 PM (IST)

कानपुर, जेएनएन। जाफरगंज थाने के खोटिला गांव से नौ फरवरी 2021 को चोरी हुईं राधाकृष्ण समेत पांच अष्टधातु की मूर्तियां खागा कोतवाली के पुरइन मोड़ से पुलिस ने बरामद कर ली हैैं। पुलिस ने हिस्ट्रीशीटर समेत चार शातिरों को गिरफ्तार कर लिया है। एसपी सतपाल अंतिल ने इस सराहनीय कार्य के लिए पुलिस टीम को 25 हजार रुपये से पुरस्कृत किया है।

राधा-कृष्ण की प्राचीन मूर्ति खोटिला गांव में पूर्व प्रमुख सुधीर सिंह के आवास मे बने ठाकुर द्वारा में स्थापित थीं। दस फरवरी की सुबह स्वजन पूजन को गए तो मंदिर से राधा-कृष्ण समेत पांच मूर्तियां गायब थीं। मूर्ति चोरी के मुकदमे के बाद पुलिस खोजबीन करती रहीं, लेकिन सुराग नहीं मिल रहा था। मंदिर वाले घर में बढईगीरी का काम कर रहे खागा क्षेत्र के एक राजेंद विश्वकर्मा पर पुलिस को शक थी, क्योंकी चोरी की घटना के बाद से वह गायब हो गया था। मुखबिर की सूचना पर खागा कोतवाली प्रभारी संतोष कुमार शर्मा के नेतृत्व में मझिलगांव चौकी प्रभारी अश्वनी कुमार सिंह, कस्बा प्रभारी सुजीत कुमार सिंह पुरइन मोड़ से हिस्ट्रीशीटर राजेश विश्वकर्मा निवासी गांव जगदीशपुर सेंधरी किशुनपुर, हरिशचंद्र विश्वकर्मा उर्फ मटरू निवासी छीमी खागा, प्रदीप यादव उर्फ बबेरू लाल निवासी मर्का जिला बांदा, अजीत कुमार विश्वकर्मा निवासी कलनापुर थाना धाता को गिरफ्तार कर लिया। इनके पास से तीन राधारानी की मूर्तियां, श्रीकृष्ण और भगवान विष्णु की एक-एक मूर्तियां बरामद की। जबकि पांचवां चोर कल्लू पासवान निवासी बेलाई थाना धाता चकमा देकर फरार हो गया।

काम के बहाने गया था खोटिला : किशनपुर थाने के जगदीशपुर सेंधरी गांव निवासी हिस्ट्रीशीटर राजेश विश्वकर्मा बढ़ई कारीगर है, जो एक वर्ष पहले जाफरगंज थाने के खोटिला गांव में सुभाकर ङ्क्षसह के घर में दरवाजे का काम करने गया था। वहां उसने पुरानी अष्टधातु की मूर्तियां देखी तो साथियों के साथ चोरी की योजना बनाई।

मूर्ति चोरों पर लगेगा गैंगस्टर : एसपी

एसपी सतपाल अंतिल ने कहा, चोरी करने के बाद मूर्तियां को हरिशचंद्र विश्वकर्मा के घर पर रखी गई थी। यहां श्रीराधा की मूर्ति को खंडित कर बांदा, चित्रकूट, प्रयागराज, कौशांबी के ग्राहकों के पास ये ले गए थे। अष्टधातु मूर्तियां बहुमूल्य हैं, लेकिन इनकी कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में एक करोड़ रुपये से अधिक आंकी गई है। इस पर ये सभी मूर्तियों को लेकर बिक्री के लिए कहीं जा रहे थे कि इन्हें पकड़ लिया गया। कहा, इन सभी शातिरों को जेल भेजा जा रहा है जिन पर गैंगस्टर की कार्रवाई की जाएगी।

शातिरों के अपराधिक इतिहास पर नजर : मुख्य सरगना राजेश विश्वकर्मा जाफरगंज थाने से हिस्ट्रशीटर है और इसके खिलाफ गैंगस्टर, चोरी, मादक पदार्थ तस्करी, जानलेवा हमला के प्रयास, विस्फोटक पदार्थ अधिनियम, चोरी जैसे किशनपुर, हथगाम, जाफरगंज, खागा में नौ मुकदमे दर्ज हैं। जबकि हरिशचंद्र पर आम्र्स एक्ट व चोरी के सात मुकदमे खागा व जाफरगंज में दर्ज हैं। प्रदीप यादव पर दुष्कर्म, चोरी के गाजीपुर व जाफरगंज थाने में दो मुकदमें दर्ज हैं। अजीत पर एक चोरी का मुकदमा दर्ज है।

हिस्ट्रीशीटर का एक साथी जेल में बंद : हत्थे चढ़े हिस्ट्रशीटर राजेश विश्वकर्मा ने बताया कि उसका एक साथी सुरेंद्र पासवान निवासी कलनापुर घोसी थाना धाता जेल में बंद है। जो मूर्तियों की चोरी करने के बाद खागा कोतवाली में मोबाइल चोरी में पकड़ा गया था। इस पर खागा पुलिस ने गैंगेस्टर लगाकर जेल भेज दिया था। कहा कि उनका छह लोगों का गिरोह है।

मूर्तियां देखकर रोने लगे पूर्व ब्लाक प्रमुख : प्रेसवार्ता के दौरान पहुंचे खजुहा पूर्व ब्लाक प्रमुख जैसे ही कांफ्रेंस हाल में पहुंचे तो यहां राधा-कृष्ण की मूर्तियों को देखकर रोने लगे और उन्होंने पुलिसकर्मियों को धन्यवाद भी दिया। साथ ही एसपी को गुलदस्ता भेंट कर सम्मानित किया। उन्होंने कहा, इस कार्य में जो भी पुलिसकर्मी शामिल रहे हैैं उन सभी को सम्मानित किया जाएगा।

...तो पीछे रह गए जाफरगंज एसओ : एसपी ने कहा, जाफरगंज थाना क्षेत्र की चोरी है। जिम्मेदारी है कि इसका राजफाश जाफरगंज पुलिस को करना चाहिए लेकिन, इसका राजफाश खागा कोतवाली पुलिस ने कर बहुत अच्छा किया है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.