फतेहपुर : टोल में तोडफ़ोड़ कर कर्मियों को बंधक बनाकर पीटा, 30 पर बलवा का मुकदमा

विरोध करने पर मैनेजर समेत पांच टोल कर्मियों को बंधक बनाकर पीटा और कार्यालय में घुसकर तोडफ़ोड़ की। मैनेजर के सोने की चेन भी कहीं गिर गई। पुलिस ने टोल मैनेजर की तहरीर पर 3्0 पर रिपोर्ट दर्ज कर घायल टोल कर्मियों को मेडिकल परीक्षण के लिए जिला अस्पताल भेजा।

Akash DwivediSat, 24 Jul 2021 08:05 PM (IST)
दसवांमील टोल प्लाजा में हुए विवाद में घायल कार चालक आशीष

फतेहपुर, जेएनएन। बांदा-सागर मार्ग के जिंदपुर टोल प्लाजा में टोल टैक्स न देने का विरोध करने पर कार सवारों ने अपने साथियों को बुलाकर जमकर बवाल काटा। विरोध करने पर मैनेजर समेत पांच टोल कर्मियों को बंधक बनाकर पीटा और कार्यालय में घुसकर तोडफ़ोड़ की। इस बीच मैनेजर के सोने की चेन भी कहीं गिर गई। खबर पाकर पहुंची पुलिस ने टोल मैनेजर की तहरीर पर 30 पर रिपोर्ट दर्ज कर घायल टोल कर्मियों को मेडिकल परीक्षण के लिए जिला अस्पताल भेजा।

हुआ यह कि गाजीपुर थाने के सुल्तानपुर मजरे अयाह निवासी आशीष सिंह अपने परिवार के साथ कार से टोल पहुंचे तो भूतपूर्व सैनिक का आइकार्ड दिखाकर निकलने लगे। टोल कर्मियों विरोध किया तो विवाद होने लगा। टोल मैनेजर रोहित गुप्ता ने बताया कि कार सवार आशीष सिंह ने फोन कर 25 से अधिक साथियों को बुला लिया। इसके बाद कार सवारों ने अपने साथियों के साथ मिलकर टोल कार्यालय में तोडफ़ोड़ व पथराव किया। विरोध करने पर अराजक तत्व उसे पीटने लगे, तभी अन्य कर्मी दीपक प्रजापति, सुनील सिंह , सूरज सिंह , शिवेंद्र राठौर उसे बचाने आए तो बंधक बनाकर उन्हें भी लाठी डंडे से पीटकर घायल कर दिया। खबर पाकर सीओ दिनेशचंद्र मिश्र मौके पर पहुंचे और पूरे घटनाक्रम को सीसीटीवी कैमरे के फुटेज में देखा।

कार में तोडफ़ोड़ कर टोलकर्मियों ने पीटा : दूसरे पक्ष से कार सवार आशीष सिंह ने थाने में तहरीर देकर आरोप लगाया है कि वह अपने परिवार के साथ गांव सुल्तानपुर जा रहा था। टोल में उसने भूतपूर्व सैनिक का आईकार्ड दिखाया तो कर्मचारियों ने टैक्स मांगा। इसके बाद उक्त टोल कर्मी आदि ने उससे अभद्रता कर मारपीट की। विरोध करने पर कार में तोडफ़ोड़ कर क्षतिग्रस्त कर दिया और सोने की चेन व दो अंगूठियां छीन ले गए।

इनका ये है कहना

टोल मैनेजर रोहित गुप्ता निवासी गीत गोङ्क्षवद कालोनी जिला आगरा की तहरीर पर आरोपित चंदन उर्फ आशीष सिंह के साथ राधे गुप्ता, अनुज विश्वकर्मा, सूरज विश्वकर्मा, मोनू व 25 अज्ञात लोगों पर बलवा के तहत रिपोर्ट दर्ज कर घायलों को अस्पताल भेजा गया है। दूसरे पक्ष का आरोप निराधार है। - सुरेंद्र सिंह                                                                                                          यादव, कार्यवाहक एसओ।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.