Kanpur Triple Murder: हत्या के बाद दोपहर तक घर पर ही रहा डाक्टर, मंधना में मिली आखिरी लोकेशन

कानपुर के कल्याणपुर में डिविनिटी अपार्टमेंट के फ्लैट में पत्नी बेटी और बेटे की हत्या के बाद गायब डॉक्टर को लेकर जांच कर रही पुलिस के सामने नया तथ्य सामने आया है। डॉक्टर ने सुबह कार ड्राइवर को भी लौटा दिया था।

Abhishek AgnihotriSat, 04 Dec 2021 10:49 AM (IST)
कानपुर में तिहरे हत्याकांड की जांच कर रही पुलिस।

कानपुर, जागरण संवाददाता। कल्याणपुर के इंदिरा नगर में डिविनिटी अपार्टमेंट के फ्लैट में पत्नी, बेटे व बेटी की हत्या के बाद गायब डॉक्टर को लेकर पुलिस की जांच में बड़ा तथ्य सामने आया है। देर रात अपार्टमेंट के सीसीटीवी कैमरों की पड़ताल की तो सामने आया कि डॉक्टर दोपहर 1.10 बजे तक घर पर ही था। यानी हत्या के तकरीबन सात आठ घंटे तक वह घर पर ही मौजूद रहा। इसके बाद शाम को उसकी मोबाइल लोकेशन मंधना में मिली है। ऐसे में उसके द्वारा तथ्यों से छेड़छाड़ की संभावना भी व्यक्त की जा रही है।

पुलिस के मुताबिक अपार्टमेंट में लगे सीसीटीवी कैमरे का रिकार्ड चेक किया जा रहा है। शुक्रवार दोपहर 1.10 बजे वह घर के बाहर दिखाई पड़ा है। वह लिफ्ट की ओर आया और फिर से वापस लौट गया। माना जा रहा है कि वह इसके बाद जीने के रास्ते बाहर चला गया। पुलिस इस संबंध में गार्डों से भी पूछताछ कर रही है। डा. सुशील ने अपने भाई डा. सुनील को शाम 5.32 बजे वाट्सएप मैसेज किया था। इसके बाद साढ़े छह बजे तक उसका मोबाइल स्विच आफ होने की जानकारी मिली है।

हालांकि मैसेज मिलने के बाद जब डा. सुनील ने भाई से संपर्क करने की कोशिश की तो उसने फोन नहीं उठाया। मोबाइल की आखिरी लोकेशन साढ़े छह बजे मंधना के पास मिली है। पुलिस ने रामा कालेज प्रबंधन से भी पूछताछ की है, जिससे पता चला है कि वह गुरुवार को कालेज आया था, शुक्रवार को कालेज नहीं आया। डॉक्टर सुशील मंधना के रामा मेडिकल कालेज में फोरेंसिक डिपार्टमेंट में विभागाध्यक्ष पद पर तैनात था।

यह भी पढ़ें :- कानपुर में ट्रिपल मर्डर से सनसनी, ओमिक्रोन वैरिएंट से परेशान डाक्टर ने पत्नी, बेटे और बेटी को उतारा मौत के घाट

यह भी पढ़ें :- सारे कष्ट एक ही पल में दूर कर रहा हूं.., डॉक्टर के नोट्स में अवसाद और खौफ की कहानी

ड्राइवर को लौटा दिया था : आरोपित डाक्टर सुशील ने अल सुबह वारदात को अंजाम दिया होगा, ऐसा फोरेंसिक विशेषज्ञों का मानना है। पुलिस के मुताबिक डाक्टर की अध्यापिका पत्नी चंद्रप्रभा को चौबेपुर के गोगुमऊ गांव स्थित प्राइमरी स्कूल छोडऩे के लिए ड्राइवर सागर जाता था। इस समय चंद्रप्रभा 20 दिन की छुट्टी पर थीं तो सागर रोज सुबह डाक्टर सुशील को मंधना रामा मेडिकल कालेज छोडऩे जाता था। पुलिस के मुताबिक शुक्रवार की सुबह साढ़े सात बजे डाक्टर सुशील ने सागर को फोन कर यह कहकर आने से मना कर दिया। कि वह खुद कार ड्राइव करके चले जाएंगे।

लान तक जाकर वापस लौटा कुत्ता : घटनास्थल पर पहुंची डाग स्क्वायड की टीम कुत्ते की मदद से भी आरोपित को लेकर साक्ष्य जुटाने की कोशिश हुई। घटनास्थल से निकला कुत्ता जीने से होता हुआ नीचे लान तक पहुंचा, जहां कुछ देर रुकने के बाद वापस लौट आया।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.