युवती का हाथ बंधा शव मिला, हत्या की आशंका

जेएनएन घाटमपुर साढ़ थाना की भीतरगांव चौकी क्षेत्र के लालपुर-कंधरा संपर्क मार्ग पर एक युवती का शव मिला है।

JagranWed, 16 Jun 2021 01:58 AM (IST)
युवती का हाथ बंधा शव मिला, हत्या की आशंका

जेएनएन, घाटमपुर : साढ़ थाना की भीतरगांव चौकी क्षेत्र के लालपुर-कंधरा संपर्क मार्ग पर कंधरा बम्बी के किनारे एक पेड़ के नीचे एक युवती का शव पड़ा मिला। शव की स्थिति से लग रहा है कि युवती की हत्या की गई है। उम्र करीब 23-24 साल है। युवती के हाथ आगे की ओर दुपट्टे से बंधे हुए हैं। एसपी आउटर अष्टभुजा प्रसाद, सीओ पवन गौतम और साढ़ इंस्पेक्टर संतोष सिंह मौके पर पहुंचे। फारेंसिक टीम ने भी मौके पर जाकर जांच की। पुलिस देर रात तक आसपास के लोगों और ग्राम प्रधानों के जरिए युवती की शिनाख्त करने की कोशिश करती रही।

मंगलवार शाम चरवाहों ने कंधरा और लालपुर से निकलने वाली बंबी की माइनर पटरी पर एक पेड़ के नीचे युवती का शव पड़ा देखा। युवती के शरीर पर लाल रंग की कुर्ती व नीले रंग की जींस है। पैरों में सफेद छींटदार जूती है। हाथ दुपट्टे से सामने की ओर बंधे हैं। युवती के शव के पास एक खाली पालीथिन, एक बीयर और पानी की खाली बोतल भी पड़ी मिली है। युवती के बाएं हाथ में घड़ी है और उसी हाथ में एक टैटू बना हुआ है। शव अकड़ा हुआ है। साढ़ इंस्पेक्टर संतोष सिंह ने बताया कि शव 10 से 12 घंटे पुराना है। शरीर पर कोई चोट के निशान नहीं है। पोस्टमार्टम के बाद ही मौत का कारण पता चलेगा। सीओ पवन गौतम ने बताया कि शिनाख्त की कोशिश की जा रही है। आसपास क्षेत्रों में पहचान कराने की कोशिश की जा रही है। लेबर ठेकेदार के खिलाफ मुकदमा न होने से ग्रामीणों में गुस्सा, कानपुर : सचेंडी में आठ जून की रात निजी बस और टेंपो की भिड़ंत में लाल्हेपुर व ईश्वरीगंज गांवों के जिन 18 लोगों की मौत हुई, उनके स्वजन लेबर ठेकेदार और उसके भाई के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग कर रहे हैं। मंगलवार को ग्रामीण एक बार फिर सचेंडी थाने पहुंचे और सुनवाई न होने पर आक्रोश जताया। बुधवार को वह उच्चाधिकारियों से मिलकर कार्रवाई की मांग करेंगे। आठ जून की रात गुजरात जा रही निजी ट्रैवल्स कंपनी की बस किसान नगर नहर के पास सामने से आ रही टेंपो से टकरा गई थी। हादसे में टेंपो के परखच्चे उड़ गए थे और उसमें सवार लाल्हेपुर व ईश्वरीगंज गांवों के 18 लोगों की मौत हो गई थी। पुलिस ने बस सवार यात्री की तहरीर पर मुकदमा दर्ज करके बस चालक, कंडक्टर व मालिक को जेल भेजा है। मृतक राममिलन, शिवभजन व लवलेश के भाई नीरज ने बताया कि आरोपित ठेकेदार व उसके भाई के खिलाफ दूसरे दिन ही तहरीर दे दी थी, लेकिन पुलिस ने मुकदमा नहीं लिखा। आरोप है कि पुलिस एक विधायक के इशारे पर आरोपितों को बचाने की कोशिश कर रही है। जांच में यह भी सामने आया है कि ठेकेदार नाबालिगों से फैक्ट्री में काम करा रहा था, फिर भी पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही। इस बाबत अब एडीजी और आइजी से गुहार लगाएंगे। वहीं थाना प्रभारी सतीश राठौर ने कहा कि तहरीर के आधार पर जांच की जा रही है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.