सीएसजेएमयू का भारतीय उद्यमिता विकास संस्थान से करार, जानिए- किसपर होगा काम और क्या होगा फायदा

लखनऊ में राजभवन में सीएसजेएमयू के कुलपति प्रो. विनय कुमार पाठक ने राज्यपाल आनंदीबेन पटेल की मौजूदगी में एमओयू पर हस्ताक्षर किए। इस करार से दोनों संस्थानों को तकनीक व नवाचार में काफी फायदा होगा। संस्थान के स्तर पर संचालित पाठ्यक्रमों पर चर्चा भी हुई।

Abhishek AgnihotriSat, 27 Nov 2021 10:56 AM (IST)
सीएसजेएमयू के कुलपति ने एमओयू पर हस्ताक्षर किए।

कानपुर, जागरण संवाददाता। छत्रपति शाहूजी महाराज विश्वविद्यालय (सीएसजेएमयू) के कुलपति प्रो. विनय कुमार पाठक ने कौशल ज्ञान, नवाचार और उद्यमिता विकास के लिए गांधीनगर, गुजरात स्थित भारतीय उद्यमिता विकास संस्थान के निदेशक डा. सुनील शुक्ला के साथ करार किया है। लखनऊ स्थित राजभवन में एमओयू (करार) के दौरान राज्यपाल आनंदीबेन पटेल भी मौजूद रहीं। अब दोनों संस्थान एक-दूसरे को तकनीक और नवाचार में सहयोग करेंगे।

कुलपति ने बताया कि प्रस्तावित शिक्षण विकास कार्यक्रम (एफडीपी), छत्रपति शाहूजी महाराज विश्वविद्यालय में आनलाइन और आफलाइन प्रक्रिया में विशेष रूप से परिसर और विवि से संबद्ध कालेजों के शिक्षकों, प्रशिक्षकों के लिए डिजाइन किया गया है। कार्यक्रम का उद्देश्य प्रतिभागियों को उनके संस्थानों में उद्यमिता विकास के लिए अनुकूल परिस्थितिकी यंत्र बनाने के लिए उपरिकेंद्र स्थापित करने के लिए प्रेरित करना है। इस दौरान संस्थान के स्तर पर संचालित हो रहे उद्यमिता के पाठ्यक्रमों पर चर्चा भी हुई।

इसके साथ बिजनेस सिमुलेशन प्रोजेक्ट बेस्ड लर्निंग को समझने में प्रतिभागियों की मदद करने के लिए रूपरेखा भी बनाई गई। इसका इस्तेमाल उद्यमिता संबंधी कोर्स संचालन के लिए किया जा सकता है। करार के मौके पर राज्यपाल के अपर मुख्य सचिव महेश कुमार गुप्ता, विशेष कार्य अधिकारी पंकज जानी, विवि के कुलसचिव अनिल कुमार यादव, प्रो. सुविज्ञा अवस्थी व डा. शिल्पा कायस्थ भी मौजूद रहे।

ये कार्यक्रम होंगे संचालित

- उद्यमिता सहायता प्रणाली

- उद्यमिता विकास (ईडी) प्रक्रिया

- उद्यमिता शिक्षण अध्यापन

- रचनात्मकता और निर्णय लेना

- स्टार्ट-अप अवसर पहचान

- आइपी निर्माण और सुरक्षा

- मूल्य प्रस्ताव और व्यापार मॉडल

- उद्यम वित्तपोषण

- नए व्यवसाय के लिए रणनीति

- व्यापार ऊष्मायन और त्वरण

- डिजाइन बनाना और वायर फ्रेङ्क्षमग

- परामर्श की भूमिका

- व्यवसाय योजना तैयार करना

यह होगा लाभ

- प्रतिभागी उद्यमिता पर उपयुक्त पाठ्यक्रम डिजाइन करने में सक्षम होंगे

- नए उद्यम निर्माण के लिए उद्यमिता शिक्षा में उपयोग किए जाने वाली तकनीकी को जानेंगे

- प्रोजेक्ट बेस्ड-लर्निंग बिजनेस सिमुलेशन का उपयोग कर उद्यमिता पाठ्यक्रम सीखेंगे।

- संरचित शैक्षणिक उपकरणों के उपयोग की ओर उन्मुख होंगे।

- उद्यमिता विकास के लिए परिसर में अनुकूल पारिस्थितिकी तंत्र बनाना सीखेंगे

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.