दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

COVID-19 In UP: मध्यप्रदेश की सीमा से यूपी के महोबा में कोरोना की सेंध, बढ़ता जा रहा संक्रमण खतरा

महोबा के परमानंद चौक के पास सड़क पर रास्ता बंद किए पुलिस।

COVID-19 In UP करीब एक माह से लॉकडाउन के कारण बाजार बंद हैं। इसलिए लोग करीब 25 किमी. की दूरी तय करके बेलाताल कस्बा पहुंच रहे हैं। यह लोग मुख्य सड़क के बजाय संपर्क मार्गों से आते-जाते हैं। इसलिए उनकी कोई जांच नहीं हो पाती है।

Shaswat GuptaThu, 06 May 2021 10:47 PM (IST)

महोबा, जेएनएन। COVID-19 In UP छतरपुर का नौगांव क्षेत्र भौगोलिक दृष्टि से भले मध्यप्रदेश में है, लेकिन व्यापार-कारोबार को लेकर उप्र के सीमावर्ती महोबा शहर और कस्बों से गहरा नाता है। इन दिनों कोरोना संक्रमण फैलने के कारण मप्र में लॉकडाउन है। इससे वहां के लोग बड़ी संख्या में खरीदारी करने जिले के बेलाताल कस्बे में प्रतिदिन पहुंच रहे हैं। इससे संक्रमण बढऩे का खतरा है। हालांकि, पुलिस का दावा है कि आवाजाही पूरी तरह रोक दी गई है।

बीते एक हफ्ते से बेलाताल के बाजार में सामान्य दिनों की अपेक्षा ज्यादा चहल-पहल है। इसका कारण मप्र के नौगांव और आसपास के दर्जनों गांवों के लोगों का खरीदारी करने के लिए यहां आना है। वहां करीब एक माह से लॉकडाउन के कारण बाजार बंद हैं। इसलिए लोग करीब 25 किमी. की दूरी तय करके बेलाताल कस्बा पहुंच रहे हैं। यह लोग मुख्य सड़क के बजाय संपर्क मार्गों से आते-जाते हैं। इसलिए उनकी कोई जांच नहीं हो पाती है।

बताते हैं, मध्यप्रदेश प्रशासन लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों के साथ बहुत सख्ती बरत रहा है। इसलिए छोटे तबके के लिए रोजाना उपभोग की चीजें व खाद्य पदार्थों की किल्लत हो गई है। इससे लोग बेलाताल और अजनर आ रहे हैं। बेलाताल जिले की प्रमुख मंडी है, जहां पर थोक कारोबार भी होता है। यहां दुकानदारों के पास पर्याप्त स्टॉक रहता है। नौगांव के खेमचंद और रामप्रकाश के अनुसार, मप्र में काफी सख्ती है। इससे वहां रोजमर्रा का सामान मिलने में दिक्कतें हो रहीं हैं। ऐसे में सीमा से सटे उप्र क्षेत्र के बाजारों में आना मजबूरी है। यहां की मंडी भी ठीक है और बंदी को लेकर उतनी सख्ती भी नहीं है। उल्लेखनीय है कि मप्र में सामान की कीमतें कम होने के कारण पहले उप्र के लोग वहां खरीदारी करने जाते थे। पहली बार ऐसा है, जब मप्र के लोग यहां खरीदारी करने पहुंच रहे हैं।

इनका ये है कहना

मप्र सीमा को जोडऩे वाली महोबा की प्रमुख सड़कों पर वाहनों का प्रवेश रोका गया है। जांच के बाद ही अनुमति दी जा रही है। साथ ही अब बंदी को लेकर पूरी सख्ती बरती जा रही है। नियम के उल्लंघन पर सख्त कार्रवाई हो रही है। - अरुण कुमार श्रीवास्तव, एसपी, महोबा।  

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.