Delta variant In UP: यूपी में जीनोम सिक्वेंसिंग से 202 डेल्टा वैरिएंट केस मिले, कानपुर में भी 18 संक्रमित

प्रदेश की विभिन्न लैब से जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए 252 सैंपल भेजे गए थे जिसमें 202 में डेल्टा वैरिएंट की पुष्टि हुई है। जीएसवीएम मेडिकल कालेज कानपुर से भी 25 सैंपल भेजे गए थे इसमें 18 संक्रमित सामने आए हैं।

Abhishek AgnihotriTue, 29 Jun 2021 07:54 AM (IST)
कानपुर में भी डेल्टा वैरिएंट के केस मिले।

कानपुर, [ऋषि दीक्षित]। कोरोना की दूसरी लहर के कहर के बाद राज्य सरकार को जीनोम सिक्वेंसिंग की महत्ता समझ में आई थी। इसलिए कोरोना महामारी की पीक के दौरान मार्च-अप्रैल में जीनोम सिक्वेंसिंग के माध्यम से वायरस के रूप का पता लगाने के लिए सैंपल भेजे गए थे। तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए प्रदेश के 10 जिलों से जून में फिर से 252 सैंपल भेजे गए, उसमें 202 में कोरोना वायरस का डेल्टा वैरिएंट पाया गया है। इसमें जीएसवीएम मेडिकल कालेज से 25 सैंपल भेजे गए थे, जिनमें से 18 में डेल्टा वैरिएंट का संक्रमण मिला है।

कोरोना वायरस की गंभीरता का पता लगाने के लिए नई दिल्ली स्थित इंस्टीट्यूट आफ जिनोमिक सेल इंट्रीग्रेटेड बायोलाजी (सीएसआइआर-आइजीआइबी) में जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए प्रदेश की कोविड लैब से संक्रमितों के सैंपल भेजे जा रहे हैं। प्रदेश सरकार ने भी जीनोम सिक्वेंसिंग की जांच के लिए तीन सेंटर बनाए हैं। बजट भी जारी कर दिया है, लेकिन अभी ये चालू नहीं हुए हैं। जांच के लिए प्रदेश की प्रमुख कोविड लैब व हास्पिटलों को जोड़ा गया है। वहीं सीएसआइआर-आइजीआइबीमें प्रदेश की प्रमुख आठ कोविड लैब से जून माह में सैंपल भेजे गए थे। इसकी रिपोर्ट जारी होने पर प्रदेश स्तर से होल जीनोम सिक्वेंसिंग इन उत्तर प्रदेश को लेकर वेबिनार का आयोजन किया गया। इसमें डा. शुभेंद्रु अग्रवाल ने राज्य से भेजे गए सैंपल की रिपोर्ट से अवगत कराया। जीएसवीएम मेडिकल कालेज से वेबिनार में कोविड के नोडल अफसर डा. प्रशांत त्रिपाठी, माइक्रोबायोलाजी विभागाध्यक्ष डा. मधु यादव और कोविड लैब प्रभारी प्रो. विकास मिश्रा शामिल हुए।

इन जगहों से भेजे गए थे सैंपल : कानपुर के जीएसवीएम मेडिकल कालेज से 25, लखनऊ के किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी से 50, अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से 28, आंबेडकर नगर मेडिकल कालेज से 13, गाजियाबाद से 30, गोंडा से 10, मथुरा से 54 एवं नोएडा से 42 सैंपल भेजे गए।

अलग-अलग वैरिएंट के संक्रमित

179 : कोरोना डेल्टा वैरिएंट (बी-1.617.2)

22 : कोरोना का डेल्टा वैरिएंट (बी-1.617.1)

01 : कोरोना का डेल्टा वैरिएंट (बी-1.617.3)

36 संक्रमितों के सैंपल हो गए खराब, जिसमें सात जीएसवीएम के

राज्य में यहां होगी जीनोम सिक्वेंङ्क्षसग

-बनारस हिंदू विवि के इंस्टीट्यूट आफ मेडिकल साइंस की एमआरयू लैब में 10 जिलों के 900 सैंपल भेजे जाएंगे। फिलहाल 300 सैंपल जा चुके हैं।

- लखनऊ की किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी की आइसीएमआर लैब में 1000 सैंपल की जांच की जाएगी। इसमें से 150 सैंपल आ चुके हैं।

- सेंट्रल ड्रग रिसर्च इंस्टीट्यूट (सीडीआरआइ), लखनऊ की लैब में 500 सैंपल की जांच की जाएगी।

-कोरोना वायरस के नए वैरिएंट लगातार आ रहे हैं। जून में भेजे गए 252 सैंपल की जीनोम सिक्वेंसिंग रिपोर्ट आ गई है, जिसमें 80 फीसद में डेल्टा वैरिएंट पाया गया है। इसी वैरिएंट ने अप्रैल-मई में कहर बरपाया था। इसलिए सावधानी एवं सतर्कता बरतने की जरूरत है। - डा. अतुल गर्ग, एसोसिएट प्रोफेसर माइक्रोबायोलाजी विभाग, संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान लखनऊ

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.