Coronavirus Self Care TIPS: नियमित योग, संतुलित आहार व काढ़े के सेवन से बढ़ाएं इम्यूनिटी, संक्रमण को भगाने में कारगर हैं ये उपाय

नित्य कुछ मिनट करने भर से अनुलोम-विलोम के लाभ देखने को मिलते हैं।

Coronavirus Self Care TIPS संक्रमण से बचाव की सारी दवा अपने किचन में आसानी से मिल जाती है। चाय तथा अन्य किसी प्रकार के पेय में तुलसी लौंग अदरक सोंठ डालकर पीने से गले की खराश और शरीर को लाभ मिलता है।

Shaswat GuptaWed, 21 Apr 2021 09:10 AM (IST)

कानपुर, जेएनएन। Coronavirus Self Care TIPS काेरानेा को हराने के लिए जनरल सेक्रेटरी वर्ल्ड योगा फेडरेशन के योगाचार्य शोभित पांडेयके मुताबिक अनुलोम-विलोम फेफड़ों को शक्तिशाली बनाने में सबसे लाभदायक होता है। इसे करने से सर्दी, जुकाम व दमा की शिकायतों से काफी हद तक बचाव होता है। यह गठिया में भी फायदेमंद होता है। श्वास प्रणाली को दुरुस्त करने के साथ मांसपेशियों में निरंतरता बनाने और पाचन तंत्र को बेहतर करने में रामबाण होता है। खुली स्वच्छ हवा में कुछ मिनट ही योग करने से लोगों को तनाव व चिंता से मुक्ति मिलती है। इसके जरिए पूरे शरीर में शुद्ध ऑक्सीजन की आपूर्ति होती है। रीढ़ की हड्डी को सीधा करके नासिका द्वार से वायु लेकर छोडऩा पड़ता है। अनुलोम-विलोम करते समय जब सांस को भरते हैं तो फेफड़े स्वयं ही दुरुस्त होने लगते हैं। नित्य कुछ मिनट करने भर से इसके लाभ देखने को मिलते हैं।

ये नुस्खा भी आजमाएं:  संक्रमण से बचाव की सारी दवा अपने किचन में आसानी से मिल जाती है। चाय तथा अन्य किसी प्रकार के पेय में तुलसी, लौंग, अदरक, सोंठ डालकर पीने से गले की खराश और शरीर को लाभ मिलता है। यह शरीर को रोगों से लडऩे की क्षमता देने के साथ एंडीबाडी को दुरुस्त करने में कारगार साबित होता है। इसका काढ़ा नित्य पीना कई रोगों में लाभकारी होता है। - डॉ. सुनीता आर्य, एसो. प्रोफेसर जंतु विज्ञान डीजी कॉलेज।

डाइटिशियन की सलाह: संक्रमण के इस दौर में खाली पेट नहीं रखना चाहिए। संतुलित डाइट से महामारी से बचाव किया जा सकता है। विटामिन, प्रोटीन के साथ विटामिन सी का प्रचुर मात्रा में उपयोग करना लाभकारी होता है। मौसमी फलों के साथ सब्जियों के सेवन को हर किसी को अपनी दिनचर्या में जरूरी शामिल करना चाहिए। यह लाभकारी साबित होगा। -  मीनाक्षी अनुराग, डाइटिशियन।

नियमों का पालन और मास्क, सैनिटाइजेशन से बचेंगी जिंदगी: यूनिवसिर्टी इंस्टी्यूट ऑफ हेल्थ साइंसेज के निदेशक और आइएमए उप्र जोन थ्री के उपाध्यक्ष डॉ. प्रवीन कटियार के मुताबिक नियमों का पालन करने से कोविड की चेन टूटेगी और लोग सुरक्षित रह सकेंगे। इसके लिए संक्रमण से बचने के लिए मास्क, सैनिटाइजेशन के साथ शारीरिक दूरी का अहम रोल रहता है। हाथ को बार-बार मुंह की ओर न ले जाने और आंखों को छूने से परहेज करें। भीड़भाड़ वाले स्थानों पर जाने के बजाए लोगों से उचित दूरी बनाकर रहें। इससे स्वयं सुरक्षित रहेंगे और दूसरों को भी सुरक्षित रखेंगे। इसके साथ ही अधिक से अधिक लोगों को जागरूक करना और उन्हें नियमों के प्रति सचेत रहने का संदेश देना चाहिए। इससे समाज में जागरूक आएगी और वे महामारी के इस दौर में बेहतर कर सकेंगे।

ये कवच जरूरी: कोविड से बचाव के लिए वैक्सीन बेहद जरूरी है। सभी को इसको लगवाने के साथ दूसरों को भी इसके लिए प्रेरित करना चाहिए। कोविड के इस काल में वैक्सीन का कवच सबके लिए जरूरी है। उम्र के दायरे में आने वाले सभी लोग इसको प्रमुखता से लगवाएं। - मनोज मेहरोत्रा, नोडल ऑफिसर यूपीसीए

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.