मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से स्कालरशिप पाकर बोला किसानपुत्र, सर ! इंजीनियर बनूंगा

सीएम के बटन दबाते जिले के लिए 4.95 करोड़ रुपये राशि से 13644 छात्र-छात्राओं के खातों में छात्रवृत्ति पहुंच गई है। जिलाधिकारी अनुराग पटेल और सीडीओ वेद प्रकाश मौर्या ने एनआइसी में मौजूद छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति स्वीकृति प्रमाण पत्र सौंपा।

Shaswat GuptaThu, 02 Dec 2021 08:09 PM (IST)
छात्रवृत्ति पाने वाले छात्र-छात्राओं से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ।

बांदा, जागरण संवाददाता। आगे चलकर क्या बनना है, कुछ सोचा है? छात्रवृत्ति वितरण के आनलाइन कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जिले के राष्ट्रीय सूचना केंद्र (एनआइसी) के सभागार में मौजूद लाभार्थी छात्र आकाश सिंह से सीधा यह सवाल किया। आकाश ने भी बिना समय लिए दृढ़ता और आत्मविश्वास के साथ जवाब दिया- 'सर, जी मेरे पिता जी किसान हैं, मैं आगे चलकर इंजीनियर बनना चाहता हूं।Ó इस मुख्यमंत्री बोले, 'आकाश आपका सपना बहुत ऊंचा है हमारी शुभकामनाएं हैं, आगे बढ़ते रहिए।Ó मुख्यमंत्री ने एक अन्य छात्र व दो छात्राओं से भी बातचीत कर छात्रवृत्ति की राशि के उपयोग पर सवाल किया। किसान व मजदूर के इन बच्चों ने राशि का उपयोग अपनी पढ़ाई और किताब-कापी खरीदने में करने की बात कही। मुख्यमंत्री ने सबको शुभकामनाएं देकर भविष्य में आगे बढऩे को कहा। 

सीएम के बटन दबाते जिले के लिए 4.95 करोड़ रुपये राशि से 13,644 छात्र-छात्राओं के खातों में छात्रवृत्ति पहुंच गई है। जिलाधिकारी अनुराग पटेल और सीडीओ वेद प्रकाश मौर्या ने एनआइसी में मौजूद छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति स्वीकृति प्रमाण पत्र सौंपा। इस मौके पर जिला समाज कल्याण अधिकारी गीता ङ्क्षसह, डीआइओएस विनोद सिंह आदि मौजूद रहे।

इन छात्र-छात्राओं से सीएम ने की बात : आदर्श बजरंग इंटर कालेज में कक्षा 10 के आकाश सिंह गौर, इसी कालेज के कक्षा नौ के अंश निगम जबकि आर्य कन्या इंटर कालेज की 10वीं की छात्राओं गीता और क्रांति से सीएम ने बातचीत की।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.