सरसौल आरओबी के शिलान्यास के लिए टंगा रहा फूल-माला, नहीं आए मंत्री जी, अब बाद में होगा कार्यक्रम

दिल्ली-हावड़ा रेलमार्ग पर आरओबी बनने से साढ़-सरसौल मार्ग में आना जाना होगा सुगम हो जाएगा। अभी रेलवे क्रासिंग सरसौल हर दस - पंद्रह मिनट में बंद रहती है। व्यस्ततम रेल मार्ग होने के चलते प्रतिदिन दो -तीन बार एक-डेढ़ घंटे तक गेट बंद रहता है।

Shaswat GuptaSat, 04 Dec 2021 02:48 PM (IST)
रेलवे ओवर ब्रिज के शिलान्यास के लिए लगा पत्थर।

कानपुर, जागरण संवाददाता। सरसौल रेलवे ओवर ब्रिज आरओबी का शिलान्यास टल गया है। शनिवार को कैबिनेट मिनिस्टर सतीश महाना को आरओबी के निर्माण कार्य का शिलान्यास करना था। सारी तैयारियां पूरी कर ली गईं थीं। यहां तक की शिलान्यास के पत्थर पर फूल-माला लगाकर सजा दिया गया था लेकिन ऐन वक्त पर कैबिनेट मिनिस्टर सतीश महाना और सांसद देवेंद्र सिंह भोले का कार्यक्रम में आना निरस्त हो गया। माना जा रहा है कि शहर में डिप्टी सीएम होने की वजह से कार्यक्रम को निरस्त करना पड़ा है। अब आगे आरओबी के निर्माण का शिलान्यास कब होगा यह अभी तय नहीं हुआ है।

दिल्ली-हावड़ा रेल मार्ग पर पडऩे वाली रेलवे क्रासिंग सरसौल हर दस - पंद्रह मिनट में बंद रहती है। व्यस्ततम रेल मार्ग होने के चलते प्रतिदिन दो -तीन बार एक-डेढ़ घंटे तक गेट बंद रहता है। दोपहर के समय लोगों को क्रासिंग बंद होने के चलते बहुत समस्याएं होती हैं। साढ़ - सरसौल मार्ग व नर्वल तहसील मुख्यालय का मुख्य मार्ग होने के चलते छोटे से लेकर बड़े सभी भारी संख्या में वाहनों का आवागमन रहता है। महाराजपुर विधायक व औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना की पहल पर जिलाधिकारी ने सरसौल रेलवे क्रासिंग पर आरओबी का प्रस्ताव शासन को भेजा था। शासन से आरओबी के लिए बजट भी जारी कर दिया गया है। शनिवार को औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना द्वारा आरओबी निर्माण का शिलान्यास होना था। इस कार्यक्रम में कैबिनेट मंत्री के साथ अकबरपुर सांसद देवेन्द्र सिंह भोले को भी आना था। लेकिन अचानक कार्यक्रम को निरस्त करना पड़ा है। अब आगे किस तारीख को रेलवे ओवर ब्रिज के निर्माण कार्य का शिलान्यास होगा यह अभी तय नहीं है।

35 करोड़ से होना है आरओबी का निर्माण

लगभग 35 करोड़ से यह रेलवे ओवर ब्रिज बनकर तैयार होगा। निर्माण कार्य के लिए एक साल की समय सीमा लगना संबंधित अधिकारी बता रहे हैं।रेलवे ओवर ब्रिज बनने के बाद क्षेत्रीय लोगों को बड़ी राहत मिलेगी। स्कूली बसों , एंबुलेंस आदि जरूरी सेवाओं के वाहन भी बिना रुके फर्राटा भरते नजर आएंगे।नर्वल तहसील में कार्यरत अधिकारियों व कर्मचारियों , जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान में कार्यरत लोगों का भी समय बर्बाद नहीं होगा।निर्माण कार्य शुरू होने के बाद काम पूरा होने तक रेलवे क्रासिंग सरसौल में आवागमन बंद रहेगा।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.