Fake Currency Smuggling: बसपा के पूर्व मंत्री का गिरोह कर रहा नकली नोट की सप्लाई, बांदा में दो गिरफ्तार

एसटीएफ सीओ के मुताबिक गिरोह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत-बांग्लादेश सीमावर्ती क्षेत्रों से नकली नोट लाता है और फिर मप्र के सागर जिले में स्थित बादशाह सिंह के फार्म हाउस से देश-प्रदेश के अन्य हिस्सों में सप्लाई होती है।

Abhishek AgnihotriTue, 28 Sep 2021 09:32 AM (IST)
बांदा में नकली नोट तस्कर गिरोह के दो शातिर पकड़े गए।

बांदा, जेएनएन। यूपी की एसटीएफ टीम ने बसपा सरकार में श्रम मंत्री रहे बादशाह सिंह के गिरोह से लाकर जाली नोटों की तस्करी करने वाले दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उनके पास से 74,300 रुपये के नकली नोट, कार और मोबाइल मिले हैं। दोनों काफी समय से इस काम में लगे थे और बांदा समेत आसपास जिलों में नकली नोटों की सप्लाई करते थे।

पूर्व मंत्री के फार्म हाउस से होती थी सप्लाई

एसटीएफ और पुलिस की संयुक्त टीम ने सोमवार को बांदा-पैलानी मार्ग पर नरी मोड़ के पास महोबा जिले के कबरई थानाक्षेत्र के उंटिया गांव के राजाराम और पैलानी थानाक्षेत्र के नरी गांव निवासी जगभान को पकड़ा। दोनों कार से आ रहे थे और उनके पास से पांच सौ रुपये के 52 और सौ रुपये के 483 नकली नोट बरामद किए। एसटीएफ के सीओ नवेंदु ने बताया कि तस्करों ने पूछताछ में जानकारी दी है कि उन्हें महोबा के. खरेला निवासी पूर्व मंत्री बादशाह सिंह के गिरोह के सक्रिय सदस्य तुषार गुप्ता के जरिए नकली नोट मिलते थे। इसके बाद वह आसपास के जिलों में सप्लाई करते थे। गिरोह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत-बांग्लादेश सीमावर्ती क्षेत्रों से नकली नोट लाता है और फिर मप्र के सागर जिले में स्थित बादशाह सिंह के फार्म हाउस से देश-प्रदेश के अन्य हिस्सों में सप्लाई होती है।

एक लाख नकली नोट के बदले मिलते बीस से तीस हजार रुपये

जगभान और राजाराम ने बताया कि नकली नोट महोबा जिले के बजरंग चौक निवासी तुषार गुप्ता उपलब्ध कराता था, पूर्व मंत्री के गिरोह का सक्रिय सदस्य है। राजाराम ने बताया कि हमीरपुर के बिवांर निवासी नरेश और प्रयागराज के आकाश को नकली नोट पहुंचाते थे। आकाश वर्तमान समय रामनगर में रहता है। नरेश और आकाश एक लाख के नकली नोट के बदले बीस से तीस हजार रुपये देते थे। यह रकम बैंक खाते में ट्रांसफर की जाती थी।

इनकी भी सुनिए

-दोनों तस्कर पूर्व मंत्री बादशाह सिंह के गिरोह से नोट लेते थे। जल्द ही गिरोह के सरगना व अन्य सदस्यों को गिरफ्तार किया जाएगा। साथ ही अब तक की मिली कड़ियों के आधार पर पूर्व मंत्री बादशाह का गिरोह पुलिस रिकार्ड में रजिस्टर्ड किया जाएगा । इसकी कार्रवाई शुरू कर दी गई है। -नवेंदु कुमार, सीओ, एसटीएफ

-मेरा 32 साल का राजनीतिक जीवन है। जिन लोगों ने मेरा नाम लिया है, उनसे पूछा जाना चाहिए कि क्या वे मुझे जानते भी हैं। मैं विस चुनाव की तैयारी कर रहा हूं। बदनाम करने की साजिश की जा रही है। सागर में मेरा फार्म हाउस है, लेकिन वहां ऐसे गलत काम नहीं होते हैं। -बादशाह सिंह, पूर्व मंत्री

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.