करोड़ों के प्रोजेक्ट को खस्ताहाल देख तम-तमाए केंद्रीय राज्यमंत्री, मशीनों में जंग और दिखी धूल की चादर

केंद्रीय सूक्ष्म लघु व मध्यम उद्योग राज्यमंत्री भानु प्रताप वर्मा ने कानपुर में टूल रूम सेंटर और एमएसएमई विकास संस्थान का निरीक्षण किया तो करोड़ों के प्रोजेक्ट का खस्ताहाल देखकर नाराजगी जताई। कहा दशा देखकर लगता अभी चालू होने में सालों लग जाएंगे।

Abhishek AgnihotriFri, 24 Sep 2021 12:59 PM (IST)
एमएसएमई विकास संस्थान पहुंचे केंद्रीय राज्यमंत्री भानुप्रताप वर्मा।

कानपुर, जेएनएन। जरीब चौकी के समीप अथर्टन मिल कैंपस टेक्नोलाजी डेवलपमेंट सेंटर (टूल रूम) का निरीक्षण करने पहुंचे केंद्रीय सूक्ष्म, लघु व मध्यम उद्योग राज्यमंत्री भानु प्रताप वर्मा का पारा उस समय चढ़ गया जब करोड़ों रुपये के प्रोजेक्ट का खस्ताहाल देख। वह तमातमाकर बोले- आप खुद हाल देखिए, यहां की मशीनों का, इनमें तो जंग लग रही है और मोटी धूल की चादर चढ़ी है। इसका काम कब पूरा होना था? मुझे दशा देखकर लग रहा है, अभी इस टेक्नोलाजी डेवलपमेंट सेंटर के संचालित होने में सालों लग जाएंगे। उन्होंने वहां मौजूद टूल रूम के प्रबंध निदेशक आनंद दयाल को जमकर फटाकारा।

केंद्रीय सूक्ष्म, लघु व माध्यम उद्योग राज्यमंत्री भानु प्रताप वर्मा शुक्रवार को जरीब चौकी फजलगंज स्थित एमएसएमई विकास संस्थान का निरीक्षण करने पहुंचे। उन्होंने विभिन्न विभागों को देखा और साथ ही प्रशिक्षण कार्यक्रमों में प्रशिक्षुओं से बात की। असुविधाओं की जानकारी पर अधीनस्थों से नाराजगी जताई। इसके बाद वह अथर्टन मिल कैंपस स्थित टेक्नोलॉजी डेवलपमेंट सेंटर पहुंचे तो हाल देखकर उनका गुस्सा फूट पड़ा। करोड़ों रुपये के प्रोजेक्ट की दशा देखकर उनसे टूल रूम के प्रबंध निदेशक से पूछा, कि इससे पहले आप यहां कब आए थे। तो उन्होंने जवाब दिया कि एक से डेढ़ साल पहले। टाटा कंसलटेंसी की ओर से क्वालिटी वर्क देख रहे अशोक सिंह को भी फटकार लगाई।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि वह इसकी जांच कराएंगे। यहां जल्द व्यवस्थाएं ठीक की जाएं ताकि प्रशिक्षण कार्यक्रम जल्द से जल्द शुरू हो सके। भवन में टूटी शीट देख कहा कि बेहद खराब गुणवत्ता का सामान उपयोग किया गया है, इसके लिए मंत्रालय स्तर से जांच कराई जाएगी। फजलगंज स्थित एमएसएमई विकास संस्थान में सेंट्रल फुटवियर ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट (सीएफटीआइ) के प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रशिक्षुओं से आइकार्ड मांगे तो नहीं दिखा पाए। मौजूद अफसरों भी सही जवाब नहीं दे सके। मंत्री ने संस्थान में सीएनसी मशीन का संचालन, सभागार, मैकेनिकल विभाग का भी निरीक्षण किया। प्रशिक्षुओं को मार्केटिंग की जानकारी देने, लोन दिलवाने के लिए भी निर्देशित किया। यहां एमएसएमई के निदेशक विष्णु वर्मा, एलबीएस यादव, अजय वाजपेयी, डा.भक्ति विजय शुक्ला आदि उपस्थित रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.