फतेहपुर: असोथर-गाजीपुर मार्ग पर तीन ट्रक के धंसने से लगा 13 घंटे तक जाम, यातायात बहाल कराने में छूटा पसीना

असोथर-गाजीपुर मार्ग में ट्रकों का चक्का जाम होने की वजह से प्राइवेट बस चालकों ने सवारियों को रास्ते में ही उतार दिया और वापस चले गए। इससे सवारियों को कीचडय़ुक्त मार्ग में पैदल चलना पड़ा। वहीं दो पहिया वाहन चालकों व राहगीरों को कच्चे मार्ग में काफी जहमत उठानी पड़ी।

Shaswat GuptaMon, 14 Jun 2021 07:30 PM (IST)
कंधिया मोड़ के समीप गाजीपुर- असोथर मार्ग में लगा जाम।

फतेहपुर, जेएनएन। असोथर-गाजीपुर मार्ग में डामरीकृत न होने से विकराल समस्या बनी हुई है। मध्यरात्रि से झमाझम बारिश होने की वजह से कच्चा मार्ग दलदल हो गया। इससे गिट्टी लदे तीन ओवरलोड ट्रक धंस गए। हालांकि, सूचना पर पहुंची पुलिस ने क्रेन मंगवाकर किसी तरह से फंसे ट्रकों को आगे बढ़वाया, तब जाकर धीरे धीरे ट्रकों का आवागमन शुरू हो सका। बताया गया कि मार्ग पर मध्यरात्रि तीन बजे जाम लगना शुरू हुआ था जो कि अगले दिन अपराह्न चार बजे यानि 13 घंटे बाद खुल सका। 

असोथर-गाजीपुर के दलदल मार्ग में मध्यरात्रि बाद एक ओवरलोड ट्रक खदरहा-कटरा के मध्य धंस गया तो दो मौरंग व गिट्टी लदे ट्रक कंधिया से बेसड़ी के मध्य फंस गए। इसके बाद बांदा से आने वाले ओवरलोड ट्रकों की इस मार्ग में लंबी कतार लग गई। सोमवार सुबह बारिश होने से ट्रक चालक गाड़ी के भीतर ही दुबके रहे। दोपहर बाद ग्रामीण व चालकों ने पुलिस को सूचना दी। इस पर एसओ नागेंद्र नागर ने अपराह्न बाद क्रेन बुलवाई और दलदल में फंसे तीन ट्रकों से पहले गिट्टी व मौरंग गिरवाई फिर उन गाडिय़ों को आगे बढ़वाया।

उधर, टीकर स्थित निर्माणाधीन ससुर खदेरी नदी पुल की वजह से असोथर-थरियांव मार्ग का संपर्क भी बारिश की वजह से धीरे-धीरे टूटने की कगार पर है। एसओ ने बताया कि इस मार्ग का डामरीकृत हो जाए तो काफी हद तक जाम की समस्या से निजात मिल जाएगी। कहा कि ट्रकों को हटवा देने से मार्ग बहाल हो गया है।

जाम की वजह से बसों से उतरी सवारियां: असोथर-गाजीपुर मार्ग में ट्रकों का चक्का जाम होने की वजह से प्राइवेट बस चालकों ने सवारियों को रास्ते में ही उतार दिया और वापस चले गए। इससे सवारियों को कीचडय़ुक्त मार्ग में पैदल ही चलना पड़ा। वहीं दो पहिया वाहन चालकों व राहगीरों को कच्चे मार्ग में काफी जहमत उठानी पड़ी।

डामरीकृत कराएं असोथर-गाजीपुर मार्ग: ग्रामीणों गिरजेश अग्निहोत्री, वेदप्रकाश सविता, राजू कुमार, शम्भू मोदनवाल, वीरेंद्र और दिनेश प्रताप ङ्क्षसह का कहना था कि असोथर-गाजीपुर मार्ग में मिट्टी खुदाई करवाकर चौड़ीकरण करवा दिया गया है और किनारे किनारे गिट्टी भी डाल दी गई है, लेकिन डामरीकृत न होने से आए दिन ओवरलोड ट्रक धंस रहे हैं लेकिन विभागीय अफसर मूकदर्शक बने हुए हैं। ग्रामीणों ने प्रशासन से मार्ग को डामरीकृत करवाने की मांग की। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.