घाटमपुर में पेट्रोल डाल कर जलाए गए युवक की मौत, दारोगा और सिपाही निलंबित

चिरली गांव में घटना के बाद बिलखते स्वजन और जांच करते पुलिस अफसर। फाइल फोटो
Publish Date:Sat, 24 Oct 2020 08:43 AM (IST) Author: Abhishek Agnihotri

कानपुर, जेएनएन। घाटमपुर के साढ़ थाना क्षेत्र के गांव चिरली में भूमि विवाद के चलते 17 अक्टूबर को देर शाम पेट्रोल डालकर जलाए गए युवक की शनिवार की भोर पहर लखनऊ के किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी में उपचार दौरान मौत हो गई। इससे पहले देर रात एसएसपी के निर्देश पर साढ़ थानांतर्गत हल्का दारोगा और बीट सिपाही को निलंबित कर दिया गया है। घटना को लेकर राजनीतिक हलचल पहले ही शुरू हो गई थी, जिसके चलते माना जा रहा है कि घटना के बाद गांव में स्थितियां सामान्य रखने के लिए एतिहातन पुलिस बल भेजा जा सकता है।

साढ़ थाना क्षेत्र के चिरली गांव निवासी होरीलाल दर्जी का पड़ोसी राघवेंद्र उर्फ राजू सिंह राणा से सहन की जमीन को लेकर विवाद था। 17 अक्टूबर दोपहर दोनों पक्षों के बीच गाली गलौज हुई थी। इसके बाद देर शाम राजू सिंह राणा ने पत्नी मंजू व पुत्र प्रथम की मदद से दरवाजे के पास चारपाई पर बैठे होरीलाल के ऊपर पेट्रोल उड़ेल कर आग लगा दी थी। बचाने में होरीलाल की पत्नी शांता व पुत्र सत्यम भी झुलस गए थे।

यह भी पढ़ें :-कानपुर में बड़ी घटना, भूमि विवाद में युवक को पेट्रोल डालकर जलाया, बचाने में पत्नी-बेटा भी झुलसे

होरीलाल, सत्यम व शांता को पहले उर्सला में भर्ती किया गया था। पुलिस ने वारदात के कुछ घण्टे के भीतर ही आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया था। विधायक अभिजीत सिंह सांगा की सक्रियता एवं घटनाक्रम से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को अवगत कराने के बाद होरी लाल व पुत्र सत्यम को बेहतर उपचार के लिए किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के बर्न वार्ड में भर्ती कराया गया था। वहीं सपा के पूर्व विधायक मुनींद्र शुक्ला ने भी पीड़ित परिवार से मुलाकता करके न्याय का भरोसा दिलाया था।

केजीएमयू लखनऊ में भर्ती होरीलाल की हालत शुक्रवार शाम अचानक बिगड़नी शुरू हुई थी। डॉक्टरों ने उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा था। इस बीच एसएसपी डा. प्रीतिंदर सिंह ने शुक्रवार देर रात एसपी ग्रामीण से रिपोर्ट लेकर साढ़ थाना के हल्का प्रभारी कृष्ण मोहन व बीट कांस्टेबल मान सिंह को निलंबित कर दिया था। एसपी ग्रामीण ब्रजेश श्रीवास्तव ने बताया कि देर रात होरीलाल की उपचार दौरान मौत हो गई है।

यह भी पढ़ें :-राजनीतिक रंग पकड़ने लगी घाटमपुर की घटना, विधायक ने सीएम को बताई पूरी बात

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.