top menutop menutop menu

बजरंग पुनिया बोले-ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतकर देश को दूंगा तोहफा Kanpur News

कानपुर, जेएनएन। हरियाणा की मिट्टी में खेलकर देश-दुनिया में पहचान मिली। यह मिट्टी ही जीत के लिए प्रेरित करती है। खेल से जुड़ा व्यक्ति ही खेल को निखार देता है। सौरभ गांगुली का बीसीसीआइ अध्यक्ष बनने से देश में खेल का उत्थान होगा। यह बातें शुक्रवार को मेहरबान सिंह का पुरवा में स्वर्गीय चौधरी हरमोहन सिंह यादव की जयंती पर हुए हुए अंतरराष्ट्रीय विराट दंगल महोत्सव में पद्श्री बजरंग पुनिया ने कहीं।

उन्होंने कहा कि हमेशा से विपक्षी पहलवान की रणनीति को समझकर दावं लगना ही मेरी प्राथमिक रणनीति रहीं, जिससे हमेशा सफलता मिली। इसी रणनीति ने हाल में ओलंपिक कोटा दिलाया। हालांकि कजाकिस्तान के पहलवान ने इस मुकाबले में कड़ी टक्कर दी थी। उन्होंने कहा कि माटी के खेल में भारत का इतिहास शुरू से ही गौरवशाली रहा। कुश्ती खेल तो देश आन बान शान का प्रतीक है और इसकी पाठशाला गांवों से शुरू होती है। इसलिए सरकार को ग्रामीण क्षेत्रों में खेलो को बढ़ावा देना चाहिए क्योंकि लगभग हर खेल में ग्रामीण परिवेश के खिलाडिय़ों ने अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन कर देश को गौरव का एहसास कराया।

उन्होंने युवा खिलाडिय़ों को इंजरी व नशे ने बचे रहने की नसीहत दी। बजरंग पुनिया ने कहा कि देश के विकास में युवाओं की भूमिका अहम है। इसलिए युवाओं को खेलो में आगे आकर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करना चाहिए। देश के युवाओं में प्रतिभा की भरमार है। उन्होंने कहा कि ओलंपिक की तैयारी के लिए कोच जार्जिया के कोच शाकू के मार्गदर्शन में कड़ा अभ्यास कर रहा हूं। ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतकर देशवासियों को तोहफा दूंगा। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.