डायवर्जन रूट पर बस, आटो व ई रिक्शा की मनमानी

बड़ा चौराहे से परेड के बीच वाहनों के रूट डायवर्जन में सिटी बस चालकों आदि की रही मनमानी।

JagranWed, 28 Jul 2021 02:37 AM (IST)
डायवर्जन रूट पर बस, आटो व ई रिक्शा की मनमानी

जागरण संवाददाता, कानपुर : बड़ा चौराहे से परेड के बीच वाहनों के रूट डायवर्जन में सिटी बस चालक, आटो व ई रिक्शा चालक जमकर मनमानी कर रहे हैं। चौराहे व तिराहे से 70 मीटर फासले पर वाहन रोकने व सवारियां बैठाने का नियम है, लेकिन वह बीच चौराहे व तिराहे पर ही वाहन रोककर सवारी बैठा रहे हैं। ट्रैफिक पुलिस की ओर से किए जा रहे चालान का भी उन पर असर नहीं पड़ रहा है। मंगलवार को डायवर्जन के चौथे दिन भी यही हालात नजर आए। गनीमत रही कि पूरे रूट पर कहीं भी ज्यादा देर जाम नहीं लगा।

ट्रैफिक पुलिसकर्मियों की गश्त और मेट्रो की ओर से तैनात किए गए ट्रैफिक मार्शल की मेहनत के चलते रूट डायवर्जन के चौथे दिन भी ट्रैफिक व्यवस्था दुरुस्त रही और जाम की स्थिति नहीं बनी। बारिश के कारण भी डायवर्जन रूट पर वाहनों का दबाव कम होने से लोगों ने राहत की सांस ली। हालांकि चौराहों व तिराहों के पास ई रिक्शा, आटो और बसों के चालक मनमाने तरीके से सवारी भरते रहे। पुलिसकर्मियों ने कई वाहनों का चालान किया, लेकिन फिर भी हालात नहीं सुधरे। सिटी बस के चालक सवारी देख बीच सड़क पर वाहन रोक देते थे। यही हाल आटो चालकों का रहा। बड़ा चौराहे से डफरिन अस्पताल की ओर चलते ही आटो चालक आड़े तिरछे वाहन खड़े करके सवारी भरते रहे। यही नहीं, कोतवाली के पहले और इलाहाबाद बैंक के बगल वाली सड़क पर ई रिक्शा चालक भी अराजकता फैलाते रहे। सुबह से शाम तक ट्रैफिक पुलिस ने 70 वाहनों का चालान भी किया।

-----------

किताब मार्केट के तिराहे पर दूसरे दिन भी फंसा ट्रैफिक

परेड के पीछे किताब मार्केट के तिराहे से सद्भावना चौक के बीच वाहन चालकों की जल्दबाजी और खरीदारी करने आए लोगों के सड़क किनारे खड़े वाहनों के चलते मंगलवार को भी बार-बार ट्रैफिक फंसता रहा। दोपहर बाद गश्त पर निकले ट्रैफिक इंस्पेक्टर का वाहन भी जाम में फंस गया। सिपाहियों ने उतरकर गलत तरीके से खड़े कई वाहनों का चालान किया और कई वाहन क्रेन बुलाकर हटवाए, तब जाम खुल सका। आइएमए के बगल वाली सड़क से आ रहे हल्के वाहन, कोतवाली चौराहे की ओर और सद्भावना चौक की ओर से आ रहे वाहन फंसते रहे। पुलिसकर्मी जिस तरफ का ट्रैफिक रोकते, उसी तरफ वाहनों की कतारें लग जाती थीं।

-----------

तिराहा संकरा होने से दिक्कत

किताब मार्केट वाला तिराहा काफी संकरा होने से वाहनों के निकलने के लिए पर्याप्त जगह नहीं है। इससे वाहन बार-बार फंस रहे हैं। स्थानीय दुकानदारों ने कहा कि अगर सद्भावना चौक से कोतवाली चौक जाने वाले वाहनों को सोमदत्त प्लाजा की ओर मोड़ दिया जाए तो शायद स्थिति में सुधार हो। एक दुकानदार ने कहा कि तिराहे पर एक छोटा का आइलैंड बनाकर समस्या को दूर किया जा सकता है। वहीं एक अन्य ने कहा कि अस्पताल रोड पर वन-वे लागू करने से समस्या का हल निकलेगा। ट्रैफिक पुलिस के अधिकारियों ने कहा कि चौराहे पर पर्याप्त फोर्स लगाया गया है। निर्देश दिए गए हैं कि तीनों तरफ से आ रहे ट्रैफिक को एक-एक करके निकाला जाए।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.