top menutop menutop menu

घरों पर पढ़ी गई ईद की नमाज, फूल देकर दी मुबारकबाद

जागरण संवाददाता, कन्नौज : कोरोना काल में ईद-उल-फितर का उल्लास घरों में सिमट कर रह गया। लॉकडाउन का पालन कर सोमवार को घरों में ईद मनाई गई। हाजीगंज स्थित ईदगाह पर मौलाना समेत पांच सहयोगियों ने शारीरिक दूरी बनाकर नमाज अदा की। मुल्क के अमन चैन की तरक्की की दुआ मांगी। इसी तरह लोगों ने सुबह घरों पर नमाज पढ़ी। कोरोना संक्रमण को देखते हुए सावधानी बरती। गले न मिलकर एक-दूसरे को फूल देकर मुबारकबाद दी। दिनभर यह सिलसिला चलता रहा। लॉकडाउन के कारण ईदगाह और मस्जिदों में सन्नाटा छाया रहा। यहां लॉकडाउन का पालन कराने को पुलिस बल तैनात रहा। मौलाना नूरुद्दीन आफाक ने कहा कि ईद खुशी का मौका है। घरों में रहकर एक-दूसरे के साथ खुशियां बांटे। लॉकडाउन के कारण परेशान मजबूर लोगों की मदद करें। यही अल्लाह की सच्ची इबादत है। डीएम राकेश कुमार मिश्रा, एसपी अमरेंद्र प्रसाद सिंह, एडीएम गजेंद्र कुमार, एएसपी विनोद मिश्रा व एसडीएम सदर शैलेष कुमार ने सीओ सिटी श्रीकांत प्रजापति के साथ भ्रमण किया। न मिले गले और न मिलाया हाथ

ईद में यह पहला मौका रहा कि लोग कोरोना महामारी से बचने के लिए न गले मिले और न ही हाथ मिलाकर मुबारकबाद दी गई। ऐसे में अधिकांश लोगों ने फोन कर मुबारकबाद दी। वाट्सएप और फेसबुक से मुबारकबाद देकर एक-दूसरे की सलामती की दुआ मांगी। मोहल्ला शेखाना में हुसैनी मस्जिद के सामने बच्चों ने देश की सलामती के लिए दुआएं मांगी और बढ़े, बुजुर्गों को फूल देकर बधाई दी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.