एक करोड़ रुपये किराये पर मिलेगी भारत गौरव ट्रेन

- 15 से 25 साल पुराने कोच की भारत गौरव ट्रेन किराये पर देगी रेलवे - 14 से 20 कोच की होगी ट्रेन, अ

JagranTue, 30 Nov 2021 01:00 AM (IST)
एक करोड़ रुपये किराये पर मिलेगी 'भारत गौरव' ट्रेन

- 15 से 25 साल पुराने कोच की भारत गौरव ट्रेन किराये पर देगी रेलवे

- 14 से 20 कोच की होगी ट्रेन, अपने रूट के मुताबिक फर्म करेगी संचालन

झाँसी : भारतीय रेल ने देश में पर्यटन को बढ़ावा देने और रो़जगार के साधन उपलब्ध कराने के उद्देश्य से निजी कम्पनि को ट्रेन किराये पर देने की योजना को अमली जामा पहनाया है। रेलवे 'भारत गौरव' योजना के तहत निजी फर्म को ट्रेन किराये पर देगी, जिसे पर्यटन के लिए फर्म इस्तेमाल करेगी। इस योजना में जहाँ पर्यटकों को अन्य साधन के मुकाबले सस्ते में घूमने का अवसर दिया जाएगा। इस योजना से रेलवे के साथ-साथ निजी फर्म को कमाई का अवसर मिलेगा। इस योजना को धरातल पर साकार करने के लिए रेलवे बोर्ड ने सभी ़जोनल रेलवे को आदेश जारी कर दिए हैं।

रेलवे बोर्ड के आदेश के बाद उत्तर मध्य ने देश के सास्कृतिक स्थल के महत्व और पर्यटन को बढ़ावा देने के साथ ही टूरिस्ट पैकेज के लिए निजी कम्पनि से हाथ मिलाने का फैसला लिया है। इसके तहत रेल यात्रियों को खास पैकेज देने वाली कम्पनि को ट्रेन किराये पर देने की तैयारी की है। रेलवे ने भारत गौरव योजना के तहत यह कदम उठाने का निर्णय लिया है। 'भारत गौरव' योजना के तहत रेल कोच को पर्यटन के लिए किराये पर देने की तैयारी की जा रही है। रेलवे ने यह भी स्पष्ट किया है कि यह रेलवे का निजीकरण नहीं, बल्कि निजी क्षेत्र के लोगों को रो़जगार केअवसर प्रदान करने के साथ ही यात्रियों को पर्यटन की सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से किया जा रहा है। रेलवे की इस पहल का मकसद देश की समृद्ध सास्कृतिक विरासत और शानदार ऐतिहासिक स्थल के लिए पर्यटन को बढ़ावा देना है। उत्तर-मध्य रेलवे फर्म को कई रूट और सास्कृतिक स्थल की योजना बनाने, ट्रेन संचालन, रखरखाव और समय की पाबन्दी के लिए सहयोग मुहैया कराएगी। कम्पनि को टूरिस्ट पैकेज देने की छूट होगी। इसमें रेल से यात्रा करना, ठहरना और पर्यटक स्थल का दौरा करना शामिल होगा। निजी ऑपरेटर उनसे नई बोगियाँ भी खरीद सकते हैं। ट्रेन की डि़जाइनिंग और आन्तरिक सजावट रेलवे के नियम अनुसार ही रहेगी। ट्रेन के भीतर और बाहर दोनों जगह विज्ञापन की अनुमति दी जाएगी। इन ट्रेन की सभी व्यवस्थाएं कम्पनि को ही देखना होंगी।

ऐसे मिलेगी ट्रेन

भारत गौरव ट्रेन को किराये पर लेने के लिए कम्पनि या फर्म को भारतीय रेलवे की आधिकारिक वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा। इसके लिए कम्पनि को 1 लाख रुपये रजिस्ट्रेशन शुल्क देना होगी। इसके साथ ही जमानत राशि के तौर पर एक करोड़ रुपये की रकम जमा करानी होगी।

सभी श्रेणी के कोच मिलेंगे

भारत गौरव योजना के तहत रेलवे द्वारा 15 से 20 वर्ष और 20 से 25 वर्ष पुराने एस-1, एसी-2, एसी-3, स्लीपर, एसी चेयरकार, पेण्ट्रिकार और एसएलआर श्रेणी के कोच मुहैया कराए जाएंगे। इन्हें उक्त कम्पनि अपनी थीम अनुसार कलर और साज-सज्जा करा सकती है।

इतने कोच की होगी ट्रेन

रेलवे की भारत गौरव योजना के तहत कम से कम 14 और अधिकतम 20 कोच की ट्रेन किराये पर दी जाएगी। इन ट्रेन में दो कोच एसएलआर कोच भी शामिल होंगे। इसके साथ ही रेलवे कोच और रूट के हिसाब से इसको चलाने के ऐवज में ट्रेन का किराया भी निर्धारित करेगी।

फाइल : वसीम शेख

समय : 06 : 55

29 नवम्बर 2021

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.