पुलिस टारगेट पर साइलेंसर बदलकर आवा़ज करने वाली गाड़ियाँ

- 3 माह के अन्दर हुई ध्वनि प्रदूषण करने वाले 67 वाहनों के विरुद्ध कार्यवाही झाँसी : दो-पहिया व चार

JagranSun, 26 Sep 2021 01:00 AM (IST)
पुलिस टारगेट पर साइलेंसर बदलकर आवा़ज करने वाली गाड़ियाँ

- 3 माह के अन्दर हुई ध्वनि प्रदूषण करने वाले 67 वाहनों के विरुद्ध कार्यवाही

झाँसी : दो-पहिया व चार-पहिया वाहनों में परिवर्तित साइलेंसर का प्रयोग कर ध्वनि प्रदूषण फैलाने वालों के विरुद्ध परिवहन एवं यातायात विभाग कार्यवाही कर रहा है। इलाहाबाद हाइकोर्ट की लखनऊ खण्डपीठ की चेतावनी के बाद ऐसे वाहन पुलिस के निशाने पर हैं।

पुलिस उप महानिरीक्षक जोगेन्द्र कुमार एवं सम्भागीय परिवहन अधिकारी आरआर सोनी के निर्देश पर ध्वनि प्रदूषण करने वाले वाहनों के विरुद्ध 3 माह से चेकिंग अभियान जारी है। आरटीओ और यातायात विभाग की टीम ने इन 3 माह में साइलेंसर बदल कर आवाज करने वाली एवं भीड़-भाड़ वाले क्षेत्रों में हूटर अथवा अन्य उपकरणों से ध्वनि प्रदूषण करने वाले 67 वाहनों के विरुद्ध कार्यवाही की। ध्वनि प्रदूषण पर पूरी तरह से रोक लगाने के लिए हाइकोर्ट ने गृह व परिवहन विभाग के अपर मुख्य सचिव व डीजीपी से सख्त कार्यवाही की अपेक्षा करते हुये तीनों अधिकारियों से व्यक्तिगत हलफनामा और वाहनों के विरुद्ध की गयी कार्यवाही का ब्योरा माँगा है। हाइकोर्ट की सख्ती पर परिवहन विभाग एवं यातायात विभाग ने ध्वनि प्रदूषण करने वाले वाहनों पर सख्ती बरतना शुरू कर दी है।

तालाब और झरनों से मिलने वाले शवों ने पुलिस प्रशासन की नींद उड़ाई

0 पर्यटन स्थल, बाँध एवं तालाबों पर पुलिसकर्मी कर रहे निगरानी

झाँसी : पर्यटन स्थल, बाँध, तालाब, चेकडैम आदि स्थानों पर पुलिसकर्मी निगरानी कर रहे हैं। बावजूद इसके 1 माह के अन्दर तालाब, झरना, चेकडैम के पानी में डूबकर मरने वालों की संख्या 1 दर्जन के करीब पहुँच गयी है। इस स्थिति को देखते हुये पुलिस अधिकारियों ने इन स्थानों पर गश्ती बढ़ाकर निगरानी करने के निर्देश दिये हैं।

पुलिस उप महानिरीक्षक जोगेन्द्र कुमार के निर्देश पर सुकुवाँ-ढुकुवाँ, माताटीला, रक्सा के ग्राम अठौंदना स्थित चेकडैम, पहूज बाँध, बरुआसागर स्थित तालाब, स्वर्गाश्रम झरना, पारीछा स्थित बाँध समेत अन्य पर्यटन स्थलों पर पुलिसकर्मी निगरानी कर रहे हैं। बताते चलें कि पुलिसकर्मियों की गश्ती करने के बाद रक्सा के ग्राम अठौंदना स्थित चेकडैम में नहाने के दौरान पानी में डूबने से 3 युवकों की मौत हो चुकी है। बरुआसागर स्थित तालाब में युवती ने छलांग लगाकर कर आत्महत्या कर ली थी। स्वर्गाश्रम स्थित झरने के पानी में डूबने से 2 युवकों की मौत हो गयी थी। पिकनिक मनाने ओरछा गये युवकों के 1 साथी की पानी में डूबने से मौत हो गयी थी। यह सभी घटनाएं 1 माह के अन्दर घटित हुई, जबकि 3 माह पहले ही पुलिस अधिकारियों ने ऐसे स्थानों पर पुलिसकर्मियों को तैनात करने के निर्देश दे रखे थे। निगरानी होने के बाद भी पानी में डूबने से लोगों की मौत होने से पुलिस कर्मियों की नीन्द उड़ गयी है। पुलिस अब पानी के पास जाने वाले व्यक्तियों के साथ सख्त रवैया अपनायेगी।

फाइल : दिनेश परिहार

समय : 9:20

25 सितम्बर 2021

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.