वैक्सीन को लेकर भ्रम फैलाकर अखिलेश ने किया लोगों के जीवन से खिलवाड़ : हीरा ठाकुर

फोटो : 25 एसएचवाई 4 झाँसी : पत्रकारों से बात करते हीरा ठाकुर। ::: 0 सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष न

JagranSat, 25 Sep 2021 07:15 PM (IST)
वैक्सीन को लेकर भ्रम फैलाकर अखिलेश ने किया लोगों के जीवन से खिलवाड़ : हीरा ठाकुर

फोटो : 25 एसएचवाई 4

झाँसी : पत्रकारों से बात करते हीरा ठाकुर।

:::

0 सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने धर्म विशेष के लोगों को प्रभावित करने के लिए दिया था बयान

0 महँगाई के लिए वैक्सीन, नि:शुल्क राशन वितरण को बताया कारण

झाँसी : सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमन्त्री अखिलेश यादव द्वारा कोरोना वैक्सीन को लेकर दिए गए बयान को राज्य पिछड़ा वर्ग के उपाध्यक्ष ने गैर जिम्मेदाराना बताया। कहा कि अखिलेश ने ऐसा बयान देकर लोगों के जीवन से खिलवाड़ करने की कोशिश की। महँगाई को लेकर उठे सवाल पर उन्होंने कहा कि सरकार के लिए जीवन बचाना आवश्यक था, इसलिए वैक्सीन व नि:शुल्क खाद्यान्न कराया। अब जल्द महँगाई पर काबू हो जाएगा।

सर्किट हाउस में पत्रकारों से वार्ता करते हुए राज्य पिछड़ा वर्ग के उपाध्यक्ष हीरा ठाकुर ने कहा कि सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष स्वयं को ऑस्ट्रेलिया में पढ़ा होने की बात कहते हैं, लेकिन उन्हें यह नहीं पता कि वैक्सीन भाजपा कार्यालय में नहीं बनती है, वैज्ञानिकों द्वारा कठिन प्रयास कर बनाई जाती है। उन्होंने कहा कि अखिलेश ने यह बयान धर्म विशेष के लोगों को प्रभावित करने के लिए दिया था। उन्होंने कहा कि कभी राम भक्तों पर गोली चलाने वाले अब खुद को सबसे बड़ा हिन्दू बता रहे हैं। इस अवसर पर पिछड़ा वर्ग आयोग के सदस्य जगदीश प्रसाद साहू, पूर्व प्रदेश कार्यसमिति सदस्य पिछड़ा वर्ग मोर्चा रामजी रामायणी भी उपस्थित रहे।

ओबीसी वर्ग के लोग आयोग में दर्ज करा सकते हैं शिकायत

0 सादे का़ग़ज पर की गई शिकायत भी होती है स्वीकार

झाँसी : शिकायत का टुकड़ा लेकर अफसरों व थानों का चक्कर काट-काटकर थक चुके पिछड़ा वर्ग के लोग सादे का़ग़ज पर अपनी शिकायत पिछड़ा वर्ग आयोग को भेज सकते हैं, यहाँ तत्काल न्याय दिलाया जाएगा। राज्य पिछड़ा वर्ग के उपाध्यक्ष हीरा ठाकुर ने दावा किया कि शिकायत मिलते ही 15 दिन में सम्बन्धित अफसर को आयोग द्वारा तलब किया जाता है।

आयोग के उपाध्यक्ष ने बताया कि प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी ने आयोग को सम्वैधानिक दर्जा दिया है। गाँव में ़जमीन पर कब्जा, उत्पीड़न या अन्य किसी भी प्रकार के मामले पिछड़ा वर्ग के लोग आयोग में भेज सकते हैं। इसके लिए लखनऊ आने की भी ़जरूरत नहीं। वेबसाइट के अलावा पोस्ट कार्ड पर भी शिकायत लिखकर भेजे जाने पर आयोग में स्वीकार की जाती है। उन्होंने बताया कि पिछले 3 साल में 15 ह़जार से अधिक मामले आयोग को भेजे गए, जिसें 800 से अधिक मु़कदमों की सुनवाई की गई और 390 का निस्तारण किया जा चुका है।

आप बहुत सुस्त हैं, काम में ते़जी लाएं

सर्किट हाउस में विभागीय योजनाओं की समीक्षा के बाद राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग के सदस्य ने पत्रकारों से वार्ता की। इस दौरान कुछ योजनाओं के गलत डेटा और कुछ जानकारी उपलब्ध नहीं होने पर उन्होंने उप निदेशक पिछड़ा वर्ग आरडी यादव पर नारा़जगी व्यक्त करते हुए कहा कि आप बहुत सुस्त हैं, काम में ते़जी लाएं।

फाइल : राजेश शर्मा

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.