35 साल बाद जुड़ा रिश्ता, डेढ़ घण्टे में बिखरा

0 पति-पत्नी के बीच वर्षो की दूरी को पुलिस ने अन्तिम क्षणों में मिलाया 0 मुम्बई की एंजिनियर युवती

JagranFri, 06 Aug 2021 01:00 AM (IST)
35 साल बाद जुड़ा रिश्ता, डेढ़ घण्टे में बिखरा

0 पति-पत्नी के बीच वर्षो की दूरी को पुलिस ने अन्तिम क्षणों में मिलाया

0 मुम्बई की एंजिनियर युवती ने भी खूब निभाया मुँह बोली बेटी होने का फर्ज

0 सिर्फ फोटो के आधार प्रेमनगर थाने के हैड कौंस्टबल शिवचरण ने खोज निकाला

झाँसी : लम्बे समय तक दूर रहने के बाद जब साँस चलने का आखिरी समय आया तो सात फेरों से बंधी अर्धागिनी की याद सताने लगी। अंकल की इस चाहत को पूरा करने के लिए मुँह बोली एंजिनियर की छात्रा ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक झाँसी को मेसिज और फोटो डाला। पते के नाम पर सिर्फ झाँसी का प्रेमनगर लिखा था। पुलिस कप्तान ने थाना प्रभारी को उक्त महिला को खोजने के निर्देश दिए। जी-जान से खोजने में जुटे हेड कौंस्टेबिल ने महिला को न सिर्फ खोज लिया, बल्कि उनको समझाकर मुम्बई भी पहुँचा दिया। बीमार पति ने पत्नी को देखा और लगभग डेढ़ घण्टे बाद ही दम तोड़ दिया। पति के अन्तिम दर्शन कराने के लिए महिला ने पुलिस का हृदय से आभार व्यक्त किया।

थाना प्रेमनगर के खातीबाबा निवासी प्रमिला बाजपेई की शादी कालीदास बाजपेई से हुयी थी। शादी के बाद दोनों में विवाद हो गया, जिस पर कालीदास मुम्बई में जाकर अपने रिश्तेदारों के पास रहने लगे थे। दोनों के बीच में 35 साल से दूरी चली आ रही थी। कालीदास के घर के पास एक चिकित्सक की बेटी एकता रहती है, जो एंजिनियर है। एकता को कालीदास बेटी मानते थे। कालीदास बाजपेई कोरोना की चपेट में आ गए और उनकी हालत खराब हो गयी। वह मुम्बई में सिद्धि विनायक अस्पताल में भर्ती थे। उन्होंने एकता से पत्नी से मिलाने का अनुरोध किया, जिस पर एकता ने एक मेसिज झाँसी पुलिस कप्तान को भेजा। इस पर पता चला कि महिला एक स्कूल में टीचर थी। सिपाही ने उसका कई लोगों को फोटो दिखाया और काफी परेशान होने के बाद आखिरकार महिला के पास पहुँच गया। पुलिस को देखकर वह घबरा गयी और उन्होंने पहले तो पति से मिलने से मना कर दिया, लेकिन जब सिपाही ने उनको बताया कि उनकी तबीयत अधिक खराब है और वह उनसे मिलना चाहते थे। काफी समझाने के बाद वह राजी हो गयी। बताते हैं कि वह मुम्बई के सिद्धि विनायक अस्पताल में पहुँची और पति को देखा। इसके कुछ देर बाद पति की साँस थम गयी। अब प्रमिला बाजपेई ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शिवहरि मीणा, प्रेमनगर थाना प्रभारी निरीक्षक रणविजय सिंह, नैनागढ़ चौकी प्रभारी सन्दीप कुमार और इस मामले में मुख्य भूमिका निभाने वाले हैड कौंस्टबल शिवकरण सिंह को पत्र भेजकर आखिरी क्षणों में पति के दर्शन कराने पर हृदय से आभार व्यक्त करते हुए कहा कि पुलिसिंग और मानवीयता की मिसाल कायम की है।

4 इरशाद-3

समय : 9.15 बजे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.