top menutop menutop menu

50 पॉ़िजटिव, 52 स्वस्थ होकर लौटे घर

50 पॉ़िजटिव, 52 स्वस्थ होकर लौटे घर
Publish Date:Thu, 13 Aug 2020 07:15 PM (IST) Author: Jagran

0 सक्रिय केस की संख्या अब 489

झाँसी : आज कोविड लैब द्वारा जारी बुलेटिन में 50 नए संक्रमित मरी़जों के मिलने की जानकारी दी गई। इसके साथ ही कहा गया कि 52 मरी़ज कोविड से जंग लड़कर पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने घरों को लौट गए।

नए कोरोना मरी़जों की संख्या तो बढ़ रही है, इसके साथ ही कोरोना से जंग जीतकर प्रतिदिन 50 से अधिक लोग घरों को लौट रहे हैं। इससे सक्रिय केस की संख्या में लगातार गिर रही है। जनपद में अब तक इस संक्रमण की चपेट में आए 82 व्यक्तियों की मौत हो चुकी है। झाँसी जनपद में कोविड-19 से मरने वालों की संख्या बुन्देलखण्ड के अन्य जनपदों की तुलना में सबसे अधिक है। ़िजला प्रशासन द्वारा जारी बुलेटिन के अनुसार महारानी लक्ष्मीबाई मेडिकल कॉलिज की कोविड लैब में गुरुवार को 3,474 सैम्पल की जाँच की गई। इसमें 50 मरी़जों की रिपोर्ट पॉ़िजटिव आयी है। इससे पॉ़िजटिव रोगियों की संख्या 2,940 हो गई। पॉ़िजटिव रोगियों में से 2,227 मरी़ज ठीक हो चुके हैं, जिनकी कोविड चिकित्सालय से छुट्टी कर दी गई है। अभी सक्रिय केस 489 हैं। सभी संक्रमित रोगियों को उपचार हेतु कोविड चिकित्सालय में भर्ती करा दिया गया है एवं इनके सम्पर्क में आए लोगों का सैम्पल लेकर उन्हें क्वॉरण्टीन कर दिया गया है। ़िजला प्रशासन लगातार ब़फर व कण्टेनमेण्ट ़जोन में पुलिस के माध्यम से लोगों को जागरूक कर रहा है। लोगों से निरन्तर अपील की जा रही है कि वे सरकार की गाइडलाइन का पालन करें और बेवजह घरों से बाहर न निकलें और निकलें तो पूरी सुरक्षा के साथ।

सरकार रखेगी स्वास्थ्य कर्मियों का ख़्याल

0 प्रधानमन्त्री ़गरीब कल्याण योजना के तहत क्षतिपूर्ति हेतु दिए जायेंगे 50 लाख रुपये

झाँसी : कोरोना वायरस कोविड-19 के ख़्िाला़फ छिड़ी जंग में फ्रण्ट लाइन में खड़े होकर इसका मुकाबला कर रहे स्वास्थ्य कर्मियों के राहत भरी खबर है। सरकार ने एक ऐसी योजना का एलान किया है। इसके तहत किसी भी स्वास्थ्यकर्मी के साथ यदि कोई दुर्घटना होती है, तो सरकार उनके परिजनों को 50 लाख रुपए का मुआवजा देगी। सरकार ने यह प्राविधान प्रधानमन्त्री ़गरीब कल्याण योजना के तहत किया है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. जीके निगम ने बताया कि बीमा की इस सुविधा का लाभ चिकित्सक, नर्स, पैरा मेडिकल स्टॉफ, ऐम्बुलेंस चालक, डब्ल्यूएचओ, यूनीसेफ सहित अन्य स्वास्थ्य कर्मियों को मिलेगा। सरकार ने कोविड-19 के ख़्िाला़फ छिड़ी जंग में अहम भूमिका निभाने वाले स्वास्थ्य कर्मियों का मनोबल बढ़ाने के लिए इस योजना को तैयार किया है। उत्तर प्रदेश चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने इस योजना से सम्बन्धित पत्र जारी करते हुए निर्देश दिए हैं कि इस योजना के तहत सरकारी अस्पताल व चिकित्सा संस्थानों में कार्यरत एवं ऐसे चिकित्साकर्मी जो कोविड-19 की रोकथाम में जुटे हुए, उन्हें विशेष बीमा योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा। इस योजना के तहत कोई भी चिकित्सा कर्मी कोरोना संक्रमित होकर किसी भी दुघर्टना का शिकार होता है, तो उसके परिजनों को 50 लाख रुपए की क्षतिपूर्ति राशि प्रदान की जाएगी। इस योजना का लाभ लेने के लिए दावा प्रपत्र देना होगा जिसे सीएमओ कार्यालय द्वारा सत्यापित किया जाएगा।

नरेन्द्र प्रताप सिंह

समय 6.35

13 अगस्त 2020

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.