सर्किट हाउस में खुला सीएम कार्यालय

झाँसी : मुख्यमन्त्री योगी आदित्यनाथ 7 दिसम्बर को झाँसी आएंगे। वह अपराह्न 2 बजे आकर विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल होंगे। सर्किट हाउस में रात्रि विश्राम करेंगे। मुख्यमन्त्री के लिए कमरा नम्बर ए-1 बुक किया गया है। मुख्यमन्त्री की सुविधा के लिए सर्किट हाउस में ही सीएम कार्यालय भी खोला जा रहा है। यह कार्यालय कमरा नम्बर 2 में होगा। एनआइसी को इसकी ़िजम्मेदारी सौंपी गई है। सीएम कार्यालय में कम्प्यूटर, स्कैनर, प्रिण्टर के साथ ही इण्टरनेट कनेक्शन दिया गया है। ऑपरेटर की व्यवस्था भी की जा रही है। यदि मुख्यमन्त्री को कोई सन्देश या जानकारी लेनी होगी, तो कार्यालय से तत्काल उपलब्ध कराई जा सकेगी।

फोटो : 6 एसएचवाइ 14

:::

पैरामेडिकल में तय होगा कि कहाँ जाएंगे सीएम

0 स्कूल, अस्पताल से लेकर विभागों को किया गया अलर्ट

0 गाँव के निरीक्षण की सम्भावना कम

झाँसी : मुख्यमन्त्री योगी आदित्यनाथ के आगमन को लेकर प्रशासनिक मशीनरी हरकत में आ गई है, पर उनके निरीक्षण कार्यक्रम को लेकर अधिकारी पशोपेश में हैं। मुख्यमन्त्री कहाँ जाएंगे, यह पैरामेडिकल में आयोजित कार्यक्रम के बाद सीएम ही तय करेंगे। हालाँकि उनके किसी गाँव जाने की सम्भावना कम जताई जा रही है।

7 दिसम्बर को अपराह्न 2 बजे पुलिस लाइन में मुख्यमन्त्री योगी आदित्यनाथ का राजकीय विमान उतरेगा। इसके बाद वह अपराह्न 2.20 बजे पैरामेडिकल कॉलिज पहुँचेंगे। अपराह्न 3 से 4 बजे के बीच मुख्यमन्त्री स्थलीय निरीक्षण करेंगे। इस दौरान वो कहीं भी जा सकते हैं, जिससे अधिकारियों की बेचैनी बढ़ गई है। ़िजलाधिकारी शिवसहाय अवस्थी ने सभी स्कूल, आँगनबाड़ी केन्द्र, शहरी हेल्थ पोस्ट, सरकारी कार्यालय, रैन बसेरों को सजाने-सँवारने के निर्देश दिए हैं। अनुमान लगाया जा रहा है कि सीएम विकास भवन का निरीक्षण कर सकते हैं, क्योंकि वो आयुक्त सभागार में बैठक करने के बाद पास में ही सर्किट हाउस में रहेंगे। मुख्य विकास अधिकारी निखिल फुण्डे ने विकास भवन के सभी विभागों को चकाचक करने के निर्देश दिए। ़िजला विकास अधिकारी उग्रसेन सिंह के निर्देशन में विकास भवन को फूलों से सजा दिया गया है। शुक्रवार को नारायण बाग से पौधों के गमले मँगाकर विकास भवन की सीढि़यों पर रखवाए गए। चूँकि सीएम के निरीक्षण का समय महज 1 घण्टे का है, इसलिए माना जा रहा है कि वह किसी गाँव की ओर शायद ही रुख करें, लेकिन सम्भावनाओं से इन्कार नहीं किया जा सकता है, इसलिए अधिकारी पूरी तरह से अलर्ट हैं और नजदीकी ग्राम पंचायतों को भी तैयार रहने के निर्देश दिए गए हैं।

फाइल : राजेश शर्मा

6 दिसम्बर 2019

समय : 8 बजे

1952 से 2020 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.