तीन सगी बहनों ने ट्रेन से कटकर आत्महत्या की

जफराबाद-सुल्तानपुर रेल प्रखंड पर बदलापुर थाना क्षेत्र के फत्तूपुर रेलवे क्रासिग के पास गुरुवार की देर रात तीन किशोरियों ने ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली। तीनों महराजगंज थाना क्षेत्र के अहिरौली गांव निवासी सगी बहनें थीं।

JagranFri, 19 Nov 2021 06:20 PM (IST)
तीन सगी बहनों ने ट्रेन से कटकर आत्महत्या की

जागरण संवाददाता, जौनपुर : जफराबाद-सुल्तानपुर रेल प्रखंड पर बदलापुर थाना क्षेत्र के फत्तूपुर रेलवे क्रासिग के पास गुरुवार की देर रात तीन किशोरियों ने ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली। तीनों महराजगंज थाना क्षेत्र के अहिरौली गांव निवासी सगी बहनें थीं। मां से कहासुनी व भाई की डांट से क्षुब्ध होकर तीनों ने मौत को गले लगा लिया। पुलिस एक पड़ोसी युवक को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

देर रात श्रीकृष्णनगर (बदलापुर) के स्टेशन मास्टर ने फत्तूपुर क्रासिग के पास तीन युवतियों के क्षत-विक्षत शव पड़े होने की सूचना थाने पर दी। सीओ बदलापुर चोब सिंह, थाना प्रभारी निरीक्षक संजय वर्मा पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए। घटनास्थल से मिले मोबाइल फोन में फीड नंबर पर पुलिस ने संपर्क किया तो शवों की शिनाख्त हो गई। तीनों अहिरौली गांव के स्व. राजेंद्र गौतम की पुत्रियां क्रमश: 13 वर्षीय काजल, 16 वर्षीय प्रीति व 15 वर्षीय आरती थीं। मौके पर पहुंचे स्वजन ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि तीनों बुआ के घर ग्राम कुधुआं (सिगरामऊ) जाने की जिद कर रही थीं।

मां आशा देवी मना कर रही थीं। इसी बात पर मां व भाई गणेश ने डांट-फटकार लगा दी थी। इसी से क्षुब्ध होकर तीनों चुपके से पैदल नहर पटरी मार्ग से बदलापुर की तरफ निकल पड़ीं। घर से करीब 18 किलोमीटर दूर फत्तूपुर रेलवे क्रासिग के पास पहुंचकर ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर लीं। मोबाइल फोन के काल डिटेल की पुलिस ने छानबीन की तो पड़ोसी 17 वर्षीय इंद्रजीत गौतम से चार-पांच बार बात होने का पता चला।

रोजी-रोटी के सिलसिले में दिल्ली रहने वाला इंद्रजीत चार दिन पूर्व घर आया हुआ है। पुलिस उसे हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

--------------------- मामला आत्महत्या का ही है। मां व भाई की डांट के बाद तीनों बहनों ने रात के 12 बजे ट्रेन के आगे कूदकर जान दे दी। ट्रेन चालक ने तुरंत स्टेशन मास्टर को सूचना दी। हां, यह जरूर विवेचना का विषय है कि घटनास्थल पर पैदल पहुंचीं या फिर किसी ने वाहन से पहुंचाया।

-डा. संजय कुमार, एएसी (सिटी)

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.