बारिश में जलालत झेलेंगे नगरवासी, नालियों की नहीं हुई सफाई

कामन इंट्रो.. बदलापुर को नगर पंचायत बने सात वर्ष बीत गया लेकिन विकास का पहिया अपनी गति नह

JagranMon, 14 Jun 2021 05:25 PM (IST)
बारिश में जलालत झेलेंगे नगरवासी, नालियों की नहीं हुई सफाई

कामन इंट्रो..

बदलापुर को नगर पंचायत बने सात वर्ष बीत गया, लेकिन विकास का पहिया अपनी गति नहीं बना पा रहा है। यहां समस्याएं आज भी जस की तस हैं। सबसे बड़ी समस्या बारिश के पानी की निकासी की है। इसके लिए कोई मुकम्मल व्यवस्था नहीं हो सकी है। हर बारिश में नागरिक जलालत झेलने को मजबूर होते हैं। कई मुहल्ले तो झील में तब्दील हो जाते हैं। नगर के मुख्य बाजार को छोड़ दें तो ग्रामीण इलाकों में जलनिकासी को नालियां तक नहीं बनाई गई हैं। जो बनाई भी गई हैं वह आधी-अधूरी। इसमें अधिकांश की अभी तक सफाई नहीं हो सकी है, जबकि नगर प्रशासन साढ़े किमी नालियों की सफाई का दावा कर रहा है।

------------------------

नगर पंचायत में 15 वार्ड हैं। बाजार क्षेत्र में तो कुछ विकास देखने को मिल जाएगा, लेकिन नगर के ग्रामीण क्षेत्रों की स्थिति अभी भी बदतर है। बारिश में जरा सा असावधानी होने पर गिरकर कीचड़ में लथपथ होना आम बात है। सभी वार्डों में यही स्थिति है। लोगों का कहना है कि मुख्य बाजार में सभी काम कराए जाते हैं, लेकिन नगर से जुड़े आठ गांवों में कोई काम नहीं हो रहा है। बजबजाती नालियां नगर प्रशासन की व्यवस्था की पोल खोलने के साथ ही बारिश को लेकर नागरिकों में खौफ पैदा कर रही हैं।

सीवर लाइन का काम अधर में

नगर क्षेत्र में सीवर लाइन का काम धन के अभाव में लटक गया है। जिससे समस्याएं और बढ़ती जा रही हैं। अभी तक मात्र घनश्यामपुर रोड व कुछ चंदन शहीद मार्ग पर ही करीब छह सौ मीटर काम हुआ है। आठ किमी सीवर लाइन का काम होना शेष है।

................

एक नजर में बदलापुर नगर पंचायत..

वार्ड : 15

आबादी: 24000

बने मकान: 5500

सफाई कर्मियों की संख्या: 45

बड़े नालों की संख्या : 7

नालियों की लंबाई: छह किमी

.......................

बोले नागरिक..

नगर पंचायत के जिम्मेदारों की उदासीनता के चलते नाली निर्माण व सफाई का कार्य गति नहीं पकड़ पा रहा है। हर बारिश जलभराव रहता है। इससे होकर गुजरने वाले स्कूली बच्चे व राहगीरों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है।

-सुनील तिवारी।

नगर में जलनिकासी की समुचित व्यवस्था न होने से बारिश में पानी दरवाजे तक लग जाता है। जलभराव के चलते दुर्गंध व मच्छरों की भरमार से संक्रामक रोग फैलने की आशंका बढ़ गई है। जो नालियां बनीं हैं उनकी भी सफाई नहीं हो सकी है। जिम्मेदार पूरी तरह निरंकुश हैं।

-वैभव सिंह।

.......................

बोले अधिशासी अधिकारी..

नगर पंचायत के नालों की 15 दिन पूर्व सफाई कराई जा चुकी है। सफाई पर अलग से न तो कोई धन आया और न ही कुछ खर्च किया गया है। सफाई कर्मियों से नियमित सफाई कराई जाती है। आगे भी अभियान चलाकर सफाई कराई जाएगी।

-डाक्टर महेंद्र कुमार, अधिशासी अधिकारी।

बोलीं अध्यक्ष..

नगर पंचायत के विकास के लिए कृतसंकल्पित हूं। विकास तेजगति से कराया जा रहा है। नई नगर पंचायत होने के बाद भी विकास दिख रहा है। सभी वार्डों में नाली इंटरलाकिग का कार्य गतिमान है।

-अमरदेई सरोज, अध्यक्ष, नगर पंचायत बदलापुर।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.