पुलिस के लिए सिरदर्द बना ओझा हत्याकांड का राजफाश

पुलिस के लिए सिरदर्द बना ओझा हत्याकांड का राजफाश
Publish Date:Sat, 31 Oct 2020 07:35 AM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, जौनपुर: बदलापुर थाना क्षेत्र के देवरामपुर गांव में हुई ओझा की हत्या का राजफाश पुलिस के लिए सिरदर्द बन गया है। एक पखवाड़े से अधिक समय बीत जाने के बाद भी पुलिस की तीन टीमें अंधेरे में ही तीर चला रही हैं। अब तक पुलिस इसी नतीजे पर नहीं पहुंच सकी है कि हत्या किसने और क्यों की, कातिलों की गिरफ्तारी तो दूर की बात है। बावजूद इसके जल्द ही राजफाश कर कातिलों को जेल की सलाखों के पीछे भेजने का दावा करने से गुरेज नहीं कर रही है।

उक्त गांव में नेवासा पर परिवार संग रहकर ओझाई-सोखाई करने वाले उमाशंकर यादव (45) की गत 13 अक्टूबर की सुबह अज्ञात हमलावरों ने हत्या कर दी थी। आमदिनों की तरह उमाशंकर साइकिल से घनश्यामपुर बाजार से चाय पीकर लौट रहे थे तो राम जानकी मंदिर के समीप धारदार हथियार से सिर में गहरे घाव पुहंचाकर उन्हें मरणासन्न कर हमलावर फरार हो गए थे। बदलापुर सीएचसी पहुंचाने पर डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया था। उसके पुत्र आशुतोष यादव की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर पुलिस कातिलों का पता लगाने में जुट गई। एसपी राजकरन नय्यर ने मौका मुआयना करने के बाद उसी दिन हत्याकांड के राजफाश के लिए तीन टीमें गठित कर दी थी। एक पखवाड़े से ज्यादा वक्त गुजर जाने के बाद भी कारणों का पता लगाने में टीमें चकरघिन्नी बनी हुई है। एएसपी (ग्रामीण) त्रिभुवन सिंह का कहना है कि छानबीन सही दिशा में चल रही है। राजफाश में लगाई गई टीमों का लगातार मार्गदर्शन किया जा रहा है। मृतक के मोबाइल फोन नंबर सर्विलांस पर डाला गया है। काल डिटेल को खंगाला जा चुका है। जल्द ही कारण साफ होने और कातिलों को गिरफ्तार कर लिए जाने की पूरी उम्मीद है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.