बरसात से गिरे कच्चे मकान, पेड़ गिरने से जौनपुर-गाजीपुर मार्ग रहा बाधित

तीन-चार दिनों से सक्रिय मानसून राहत के साथ आफत भी लाया है। शनिवार रात से हो रही बारिश से कच्चे मकान गिरने के साथ जगह-जगह गिरे पेड़ की वजह से कई गांवों की बिजली घंटों गुल रही। जौनपुर-गाजीपुर मार्ग पर खड़हर डगरा के समीप विशालकाय पेड़ गिरने से आवागमन घंटों बाधित रहा।

JagranSun, 01 Aug 2021 10:59 PM (IST)
बरसात से गिरे कच्चे मकान, पेड़ गिरने से जौनपुर-गाजीपुर मार्ग रहा बाधित

जागरण संवाददाता, जौनपुर : तीन-चार दिनों से सक्रिय मानसून राहत के साथ आफत भी लाया है। शनिवार रात से हो रही बारिश से कच्चे मकान गिरने के साथ जगह-जगह गिरे पेड़ की वजह से कई गांवों की बिजली घंटों गुल रही। जौनपुर-गाजीपुर मार्ग पर खड़हर डगरा के समीप विशालकाय पेड़ गिरने से आवागमन घंटों बाधित रहा। स्थानीय लोगों ने जेसीबी की मदद से किसी तरह पेड़ को हटाया। वहीं, निचले इलाकों में जलभराव से लोगों को भारी दुश्वारियां उठानी पड़ी। हालांकि बारिश से मुरझाई फसलों की रंगत देख किसानों के चेहरे खिल उठे।

खेतासराय के मनेछा गांव में बारिश की वजह से दो कच्चे मकान ढह गए। इसके चलते परिवार आसमान तले आ गया। गांव निवासी रामू व कन्हैया मिट्टी के मकान में गुजर बसर कर रहे थे। रविवार को अपराह्न अचानक दोनों मकान भरभराकर गिर गया। संयोग ही था कि मौके पर परिवार का कोई सदस्य घर के अंदर नहीं था।

मुफ्तीगंज में जौनपुर-गाजीपुर मार्ग पर खड़हर डगरा के समीप विशालकाय पेड़ गिरने से आवागमन पूरी तरह ठप हो गया। स्थानीय लोगों ने जेसीबी की मदद से घंटों मशक्कत के बाद किसी तरह पेड़ को काटकर हटाया। वहीं, शीतला चौकिया धाम क्षेत्र में शनिवार रात दस बजे से बंद विद्युत आपूर्ति 18 घंटे बाद किसी तरह बहाल हो पाई। इसके चलते स्थानीय लोगों व दर्शनार्थियों को परेशानी का सामना करना पड़ा।

सरपतहां क्षेत्र में कई स्थानों पर पेड़ गिर पड़े। शाहगंज से सुइथाकलां आने वाली 33 केवी बिजली के तार पर बसिरहां गांव में पेड़ गिरने से शनिवार की आधी रात के बाद आपूर्ति ठप हो गई, जिसे ठीक करने में रविवार सुबह से ही बिजली कर्मचारी जुटे रहे। मरम्मत के बाद अपराह्न दो बजे के बाद आपूर्ति व्यवस्था बहाल हो सकी। सिगरामऊ क्षेत्र के आहोपुर सहित दो गांव में ग्यारह हजार वोल्टेज का विद्युत तार गिर जाने से विद्युत आपूर्ति 12 घंटों तक बाधित रही।

नौपेड़वा क्षेत्र में शनिवार रात में कटी बिजली दोपहर को किसी तरह बहाल हो पाई। लखनीपुर गांव में विद्युत तार पर पेड़ गिरने की जानकारी विभाग कर्मियों को हुई तो सुबह डालियां काटकर गिराई गई। गोरियापुर फीडर के अलावा बक्शा सवंसा फीडर से संचालित होने वाली रेलवे फीडर, बबुरा, सुजियामऊ शंभूगंज फीडर की विद्युत व्यवस्था पूरी तरह ठप रही। पांच अगस्त तक आसमान में छाए रहेंगे बादल

कृषि विज्ञान केंद्र के मौसम वैज्ञानिक डा. पंकज जायसवाल ने बताया कि पांच अगस्त तक मानसून से सक्रिय रहने की संभावना है। आसमान में बादल छाए रहेंगे। अधिकतम तापमान 28 से 30 और न्यूनतम 20 से 24 डिग्री सेल्सियस के आस-पास रहेगा। इस दौरान 10 से 16 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी। उन्होंने कहा कि यह बारिश किसानों के लिए काफी फायदेमंद है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.