यह आश्रय स्थल मानो होटल का रूम हो

यह आश्रय स्थल मानो होटल का रूम हो

रैन बसेरों में भले ही अव्यवस्थाएं बनी हुई हैं लेकिन कुछ शेल्टर

Publish Date:Wed, 02 Dec 2020 06:02 PM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, उरई : रैन बसेरों में भले ही अव्यवस्थाएं बनी हुई हैं लेकिन कुछ शेल्टर होम बेहतर स्थिति में हैं। शहर के मोहल्ला लहरियापुरवा में शहरी आजीविका मिशन से बनवाया गए शेल्टर होम में रहने की हर तरह की सुविधा है। रजाई, गद्दा, बेड आदि मुहैया है। सीसीटीवी कैमरे के साथ ही रुकने वालों के मनोरंजन के लिए टीवी भी लगा हुआ है। ठहरने वाले लोगों के सामान को सुरक्षित रखने के लिए तालायुक्त अलमारियां हैं।

नगरीय विकास अभिकरण ने दो वर्ष पूर्व मोहल्ला लहरियापुरवा में सौ बेड का शेल्टर होम बनवाया था। इसमें हर सुख सुविधा का ख्याल रखा गया। शानदार बेड के साथ ही नरम गद्दे व रजाई भी है। बिजली, पानी, पंखे आदि की सुविधा इसमें हैं। लोग मनोरंजन कर सकें इसके लिए टीवी लगा हुआ है। महिलाओं व पुरुषों के लिए अलग-अलग व्यवस्था रखी गई है। फिलहाल इसमें लगभग बीस लोग रह रहे हैं। सर्दी बढ़ने के चलते अब इसमें रुकने वालों की संख्या बढ़ सकती है। शेल्टर होम की नियमित सफाई कराई जाती है। गरीबों को पता ही नहीं आश्रय स्थल

नगर पालिका व डूडा की टीम गरीबों को आश्रय स्थल तक ले जाने का कार्य करती है। हालांकि अधिकतर आश्रय स्थल खाली होने से टीमों की कार्यशैली पता चलती है। वहीं गरीबों को भी आश्रय स्थल की जानकारी नहीं होती।

शेल्टर होम का निरीक्षण कर सभी सुविधाएं व्यवस्थित करवा दी गई हैं। लोग आराम से रह सकते हैं। अगर किसी को कोई असुविधा हो तो वह शिकायत कर सकता है।

संजय कुमार, ईओ, नगर पालिका परिषद

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.