किसानों की भीड़ को देखते हुए पुलिस अभिरक्षा में बंट रही खाद

सहकारी समिति कदौरा में 40 टन खाद आई थी जिसे बुधवार को पुलिस निगरानी में बंटवाई गई।

JagranThu, 28 Oct 2021 01:16 AM (IST)
किसानों की भीड़ को देखते हुए पुलिस अभिरक्षा में बंट रही खाद

संवाद सहयोगी, कालपी/कदौरा : सहकारी समिति कदौरा में 40 टन खाद आई थी जिसे बुधवार को पुलिस अभिरक्षा में बंटवाया जा रहा है। इससे किसानों की भारी भीड़ रही। कालपी में भी किसानों एक-एक बोरी डीएपी दी गई। जिससे किसानों में मारामारी मची है।इसके बाद भी प्रशासन ठोस कदम नहीं उठा रहा है।

कदौरा में सहकारी समिति पर खाद को लेकर खासी मारामारी है। प्रति आधार पर पहले एक बोरी खाद दी जा रही थी। इसको लेकर किसानों ने हंगामा कर दिया। किसानों की मांग थी कि खतौनी के आधार पर खाद का वितरण किया जाए। जब किसान शांत नहीं हुए तो फिर पुलिस को बुलाना पड़ा। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर किसानों को समझाया तब कहीं जाकर मामला शांत हुआ। प्रति किसान एक आधार कार्ड पर अधिकतम 5 बोरी खाद दी जा रही है जिसे किसानों ने नाकाफी बताया। किसान होशियारी लाल, विनोद कुमार, हरीराम, वीरेंद्र कुमार, शिवसिंह ने बताया कि अधिकतम 5 बोरी खाद दी जा रही है जिससे कुछ नहीं होने वाला। रबी की चना, मसूर, मटर व अन्य दलहनी फसल की बोआई सिर पर है। सहकारी समिति के सचिव सर्वेश कुमार का कहना है कि 40 टन खाद जिले से मिली थी जिसे किसानों को लगातार वितरित किया जा रहा है। जैसे ही खाद और उप्लब्ध होगी तुरंत वितरण किया जाएगा।

कालपी में बीते एक सप्ताह से खाद का संकट बरकरार है। बुधवार की सुबह महेबा किसान सहकारी समिति में खाद बंटनी शुरू हुई जहां पर एक किसान को दो-दो बोरी खाद बांटी जा रही थी। तहसीलदार मौके पर पहुंचे और उन्होंने एक किसान को एक बोरी ही खाद देने के निर्देश दिए। जिसके बाद एक किसान को एक बोरी खाद दी जाने लगी जिससे लाइन में लगे किसानों ने बताया कि एक बोरी खाद में कुछ नहीं होगा। उधर प्राइवेट दुकानदारों ने अभी किसानों को खाद दी फिलहाल पिछले दिनों की अपेक्षा किसानों को खाद उपलब्ध होने में कुछ सहूलियत हुई है। महेबा किसान सहकारी समिति के सचिव प्रदीप द्विवेदी ने बताया कि अधिकारियों के निर्देशानुसार खाद वितरित की जा रही है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.