आमद कराने में होमगार्डो से वसूला जाता सुविधा शुल्क

जागरण संवाददाता उरई सुरक्षा व्यवस्था में कई मौकों पर सिपाहियों के समानांतर ड्यूटी करने वाले होमगार्डों के मानदेय में तो बढ़ोतरी हो गई लेकिन उन्हें वह सम्मान नहीं मिल पाता। जिसके वे हकदार हैं। हालत है कि थानों में उनके साथ कई बार नौकरों की तरह बर्ताव होता है। ड्यूटी के लिए आमद कराने में भी सुविधा शुल्क देनी पड़ती हैं। आमद कराने के नाम पर सुविधा शुल्क लेते कंपनी कमांडर का वीडियो वायरल होने के बाद अब होमगार्ड विभाग की अनियमितताएं खुलकर सामने आ गईं हैं।

JagranWed, 23 Jun 2021 05:35 PM (IST)
आमद कराने में होमगार्डो से वसूला जाता सुविधा शुल्क

जागरण संवाददाता, उरई : सुरक्षा व्यवस्था में कई मौकों पर सिपाहियों के समानांतर ड्यूटी करने वाले होमगार्डों के मानदेय में तो बढ़ोतरी हो गई, लेकिन उन्हें वह सम्मान नहीं मिल पाता। जिसके वे हकदार हैं। हालत है कि थानों में उनके साथ कई बार नौकरों की तरह बर्ताव होता है। ड्यूटी के लिए आमद कराने में भी सुविधा शुल्क देनी पड़ती हैं। आमद कराने के नाम पर सुविधा शुल्क लेते कंपनी कमांडर का वीडियो वायरल होने के बाद अब होमगार्ड विभाग की अनियमितताएं खुलकर सामने आ गईं हैं।

जिसके बाद अधिकारी ऐक्शन मोड़ में है। वसूली करने वाले कंपनी कमांडर को बाहर का रास्ता दिखाने की कार्रवाई की जा रही है। जिले में होमगार्ड की 13 कंपनी हैं। एक कंपनी में 100 जवान होते हैं। इस तरह जिले में 13 सौ होमगार्ड होने चाहिए, लेकिन तमाम होमगार्ड सेवानिवृत्त हो गए, जबकि नई भर्ती नहीं हुई। इस वजह से वर्तमान में करीब एक हजार होमगार्ड ड्यूटी पर हैं। तीन साल पहले तक केवल 400 जवानों की ड्यूटी की गुंजाइश थी। परिवार का पेट पालने के लिए होमगार्डो को नियमित रूप से ड्यूटी पाने के लिए रुपये तक खर्च करने पड़ते थे, परंतु अब स्थिति में सुधार हुआ है। 600 रुपये रोज के हिसाब से मानदेय फिक्स है, जबकि 925 जवानों की महीने में ड्यूटी मिल रही है। किस होमगार्ड को किस थाने या फिर अधिकारी की सुरक्षा लगाया जाना है इसको लेकर ड्यूटी चार्ट हर माह की पहली तारीख को तय होता है। यहीं पर आमद के नाम पर उनसे तीन सौ रुपये तक सुविधा शुल्क ली जाती है। इसके अलावा मनचाही जगह पर ड्यूटी लगाने में भी खेल होता है। मामला उजागर होने के बाद विभाग अनियमितताओं पर पर्दा डालने की कवायद में लगा है। कोट

आमद के नाम पर वसूली करने वाले कंपनी कमांडर को निलंबित किया गया है। उसकी बर्खास्तगी की संस्तुति भी की जा रही है। 925 होमगार्डो को अब नियमित ड्यूटी मिल रही है। इस वजह से रोस्टर प्रणाली की जरूरत नहीं है। सभी को ड्यूटी मिले यह प्रयास किया जा रहा है।

विनोद कुमार शाक्य, जिला कमांडेंट जिले में होमगार्डों का विवरण :

होमगार्ड कंपनी - 13

कुल जवान -1000

महिला प्लाटून - एक

कुल महिला होमगार्ड - 18

अधिकारियों के यहां भी रहती ड्यूटी

जिलाधिकारी - 12

अपर जिलाधिकारी- 06

उप जिलाधिकारी - 06

तहसीलदार - 06

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.