कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को लेकर कमर कस ले प्रशासन:भूपेंद्र

पंचायती राज मंत्री एवं प्रभारी भूपेंद्र सिंह चौधरी ने कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को लेकर कहा कि प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से कमर कसते हुए तैयारियों में जुट जाए।

JagranSat, 22 May 2021 11:41 PM (IST)
कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को लेकर कमर कस ले प्रशासन:भूपेंद्र

जागरण संवाददाता, हाथरस: पंचायती राज मंत्री एवं प्रभारी भूपेंद्र सिंह चौधरी ने कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को लेकर कहा कि प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से कमर कसते हुए तैयारियों में जुट जाए। इस दौरान उन्होंने कलक्ट्रेट परिसर में स्थित एकीकृत कोविड कमांड कंट्रोल रूम का निरीक्षण किया। प्रोजेक्टर के माध्यम से आइसीसीसी में कोविड-19 के तहत जनपद में किए जा रहे कार्यों की समीक्षा भी की।

प्रभारी मंत्री को नोडल अधिकारी ने बताया कि जनपद में सात सरकारी व निजी अस्पताल कोविड अस्पताल के रूप में तैयार किए गए हैं जिनमें कुल बेड 372, आक्सीजन बेड 180, वेंटीलेटर बेड की संख्या 28, आइसोलेशन बेड आक्सीजन रहित 164 उपलब्ध हैं। कोविड अस्पतालों में आक्सीजन आपूर्ति भी बनी हुई है तथा जनपद के तीन अस्पतालों हाथरस, सीएचसी मुरसान, एवं सिकंदराराऊ में आक्सीजन प्लांट लगाने का काम शुरू कर दिया है।

आइसीसीसी हाथरस के नोडल अधिकारी ने बताया कि जनपद में कुल 463 ग्राम पंचायतों और 136 नगरीय वार्डों में कोरोना के संदिग्ध रोगियों की पहचान एवं चिकित्सकीय सुविधा एवं परामर्श के लिए कुल 642 निगरानी समितियों का गठन किया गया है। ग्रामीण क्षेत्रों की निगरानी समिति में ग्राम प्रधान, लेखपाल, ग्राम पंचायत अधिकारी एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, आशा एवं राशन डीलर को जबकि नगरीय क्षेत्र की निगरानी समिति में वार्ड सभासद एवं आशा तथा आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को सम्मिलित किया गया है। निगरानी समितियों के पर्यवेक्षण हेतु न्याय पंचायत स्तर पर 64 सेक्टर प्रभारी तथा ब्लाक स्तर पर जोनल तथा तहसील स्तर सुपर जोनल मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई है।

निगरानी समितियों द्वारा अभियान चलाकर 2,22,281 घरों का भ्रमण किया गया और 3077 सर्दी-खांसी-बुखार जैसे लक्षणयुक्त व्यक्तियों की पहचान की गई जिन्हें तत्काल मेडिसिन किट उपलब्ध करा दी गई। उक्त संदिग्ध लक्षण वाले व्यक्तियों का 24 घंटे के अंदर टीम द्वारा कोरोना टेस्ट किया गया जिसमें 673 कोरोना पाजिटिव केस पाए गए जिनमें से 86 रोगियों को अस्पताल में भर्ती कराया गया और शेष रोगी होम आइसोलेशन में ही स्वास्थ्य लाभ कर रहे हैं। गत वर्ष से लेकर अब तक 26 रोगियों की मृत्यु हो गई है। जनपद में संक्रमण दर 0.67 फीसद अर्थात एक फीसद से भी कम है।

उन्होंने बताया कि जनपद में होम आइसोलेशन के रोगियों को कोविड कंट्रोल रूम से प्रतिदिन फोन द्वारा सुबह, दोपहर व रात्रि तीन शिफ्टों में सूचना प्राप्त करने के लिए तीन-तीन चिकित्सकों की टीम बनाई गई हैं।

प्रभारी मंत्री ने निगरानी समिति की भूमिका की सराहना करते हुए कहा कि निगरानी समितियों द्वारा अच्छा कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन के कार्य की गति को बढ़ाए जाने की आवश्यकता है। उन्होंने साफ-सफाई, फोगिग तथा सैनिटाइजेशन का विशेष अभियान चलाकर कार्यक्रम को सफल बनाए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि तीसरी लहर की संभावना व्यक्त की जा रही है। इसके लिए समय से पहले जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग पूर्ण तैयारी करना सुनिश्चित करें तथा मास्क लगाने पर विशेष ध्यान दिया जाए। उन्होंने जागरूकता के माध्यम से सचेत करने के निर्देश दिए। भारत सरकार द्वारा जारी की गई गाइड लाइन का अनुपालन सुनिश्चित किया जाए।

इस अवसर पर सांसद राजवीर सिंह दिलेर, विधायक हरीशंकर माहौर, जिलाधिकारी रमेश रंजन, पुलिस अधीक्षक विनीत जायसवाल, मुख्य विकास अधिकारी आरबी भास्कर, अपर जिलाधिकारी जेपी सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी चंद्र मोहन चतुर्वेदी, उप जिलाधिकारी विपिन शिवहरे, जिलाध्यक्ष गौरव आर्य, नगर पालिका अध्यक्ष आशीष शर्मा, जिला पंचायत राज अधिकारी बनवारी सिंह मौजूद रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.