हाथरस में पानी में डूबीं गलियां व सड़कें, बंद हुए रास्ते

ग्राम पंचायत खिजरपुर के मजरा नगला कोठी में जन समस्याओं के अंबार लगा है।

JagranMon, 06 Dec 2021 01:16 AM (IST)
हाथरस में पानी में डूबीं गलियां व सड़कें, बंद हुए रास्ते

संवाद सूत्र, सिकंदराराऊ: ग्राम पंचायत खिजरपुर के मजरा नगला कोठी में जन समस्याओं के अंबार लगे हुए हैं। खड़ंजे पर जलभराव होने से रास्ता निकलना भी राहगीरों के लिए मुश्किल हो रहा है। शिकायत किए जाने के बाद भी इस जनसमस्या का कोई निस्तारण नहीं किया गया है।

गांव नगला कोठी काली नदी के सहारे बसा हुआ है। इस गांव में करीब 500 मतदाता हैं। तहसील मुख्यालय से यह गांव करीब 30 किलोमीटर की दूरी पर है। गांव में पानी की निकासी नहीं होने से यहां पर जलभराव की समस्या हर समय बनी रहती है। इसका पानी रास्ते में भरा रहता है। सफाई व्यवस्था का भी यहां पर कोई इंतजाम नहीं है। सफाई कर्मचारी भी कभी-कभी आता है। विकास कार्यों का निरीक्षण करना तो दूर अधिकारी गांव में आना तक मुनासिब नहीं समझते।

नाली बनने से दूर होगी जलभराव की समस्या

पानी की निकासी के लिए गांव के जनप्रतिनिधियों द्वारा भी कोई प्रयास नहीं किया गया। गांव से कुछ दूरी पर काली नदी बह रही है। एक नाला बनाकर गांव के पानी को इस नदी में निकाला जा सकता है। इससे पानी का निकास भी हो जाएगा और जलभराव की समस्या भी दूर हो जाएगी। लोगों की मानें तो शिकायतें करने के बाद भी इस समस्या का कोई निराकरण नहीं किया जा रहा है।

इनका कहना है-

यह गांव काली नदी के किनारे है। मुख्यालय से दूर होने से यहां कोई अधिकारी जनसमस्याओं को देखने तक नहीं आते। विकास कार्य तो दूर की बात है।

- नेकसे लाल, निवासी

जलभराव की समस्या का कोई निराकरण नहीं कराया गया है। सफाई कर्मचारी मनमानी करता है। गांव में घरों व प्रतिष्ठानों के आगे सफाई कार्य खुद ही करना पड़ता है।

- मोहन लाल, निवासी

परेशान ग्रामीणों ने भाजपा नेता को रास्ते में रोका: दो वर्ष से टूटी सड़क से परेशान ग्रामीणों द्वारा वहां से जा रहे भाजपा नेता को रोककर सड़क की दुर्दशा के बारे में अवगत कराया। भाजपा नेता ने जिलाधिकारी व पीडब्ल्यूडी से मिलकर सड़क का निर्माण कराने का आश्वासन ग्रामीणों को दिया है।

सादाबाद से जैतई गुतहरा जाने वाला मार्ग पिछले दो वर्षों से टूटा पड़ा हुआ है। कई फुट गहरे गड्ढे हो चुके हैं। यहां के प्रधानों द्वारा संपूर्ण समाधान दिवस से लेकर जिलाधिकारी तक इस सड़क का निर्माण कराने की मांग की गई। प्रधानों की समस्याओं पर कोई ध्यान नहीं दिया गया। रविवार को गांव गुतहरा में एक कार्यक्रम में जाते वक्त भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता चौ. संजय सिंह को ग्रामीणों ने रास्ते में रोक लिया। सड़क के हालातों से अवगत कराते हुए बताया कि पिछले दो वर्ष से ये सड़क जर्जर और टूटी पड़ी हुई है। विधायक और सांसद ने इस और ध्यान नहीं दिया। सड़क इतनी खराब हो चुकी है कि यदि गर्भवती महिलाओं को प्रसव के लिए सादाबाद के अस्पताल ले जाना है तो उनका प्रसव गाड़ियों में रास्ते में ही हो जाता है। साथ ही गड्ढों के कारण आए दिन सड़क दुर्घटना हो जाती हैं जिससे राहगीर घायल हो जाते हैं। मोटरसाइकिल चलाने में इतनी दिक्कत पैदा होती है कि बाइक सवार बहुत ही धीमी गति से अपनी बाइकों को निकालने के लिए मजबूर होते हैं। गढ़ी नौकस पर भाजपा नेता चौ. संजय सिंह ने जल्द ही लोक निर्माण विभाग, जिलाधिकारी से मिलकर इस मार्ग के निर्माण करवाने का आश्वासन दिया। इस अवसर पर राकेश परमार, शिवकुमार परमार, लोकेंद्र चौहान, लवकुश शाह, रवि यादव, गोपाल शाह, देवेंद्र सिंह, चंद्रपाल सिंह, प्रेमपाल सिंह, सुरेंद्र सिंह, विशाल उपाध्याय, राशिद, शिवम चौधरी, वीरेंद्र चौहान, वीरपाल बघेल, विष्णु प्रजापति, हरिओम बघेल मौजूद थे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.