सपनों की छलांग से उड़ान भर रहा शाहरुख

हाथरस प्रमोद सिंह जिदगी में लक्ष्य पाने के लिए संघर्ष भी करने पड़ते हैं।

JagranSat, 28 Aug 2021 11:18 PM (IST)
सपनों की छलांग से उड़ान भर रहा शाहरुख

हाथरस, प्रमोद सिंह : जिदगी में लक्ष्य पाने के लिए संघर्ष भी करने पड़ते हैं। आर्थिक और शारीरिक परेशानी भी बाधा बनकर आती हैं। इन दुश्वारियों के आगे दिव्यांग खिलाड़ी शाहरुख ने हार नहीं मानी। खेलकर आगे बढ़ने के सपने दिव्यांग खिलाड़ी ने जिदा रखे। दिव्यांग खिलाड़ी पैरा एथलेटिक्स प्रतियोगिताओं में जमकर पसीना बहाकर मेडल हासिल कर रहा है। हाल ही में गाजियाबाद में हुई यूपी स्टेट पैरा एथलेटिक्स चैंपियनशिप में उन्होंने प्रतिभाग किया। डिस्कस थ्रो में दूसरा स्थान प्राप्त कर रजत पदक जीता।

पहलवानी में हो गया दिव्यांग

शहर के किला गेट के पास रहने वाले पहलवान शाहरूख वर्ष 2015 में कुश्ती दंगल में मैच खेलते समय घायल हो गए थे। कुश्ती के दौरान गर्दन टूट जाने से लकवा मार गया। मुफलिसी के चलते ठीक से अपना इलाज भी दिव्यांग खिलाड़ी नहीं करा पाया, लेकिन 26 वर्षीय शाहरूख को बचपन से पहलवानी करने का शौक था। मेले में आयोजित कुश्ती दंगल के दौरान कुश्ती लड़ते समय शाहरूख की गर्दन टूट गई। जिस वजह से परिवार पर आर्थिक संकट का साया छा गया। पिता अब्बल अब्बासी मेहनत मजदूरी करके परिवार का पालन पोषण करते थे।

इलाज में आई दिक्कत

पहलवान शाहरूख की गर्दन टूट जाने की वजह से आवाज बंद हो गई थी। साढ़े तीन साल तक परिवार के सदस्यों ने दिव्यांग पहलवान का इलाज कराया, लेकिन उसका हौसला नहीं टूटने दिया। इलाज में करीब दस लाख रुपया खर्च हो जाने के बाद भी वो अपने पैरों पर अभी तक खड़ा नहीं हो सका है।

हौसले से मिली ताकत

दिव्यांग पहलवान को हौसले से काफी ताकत मिली। उनके बड़े भाई अब्दुल बारिश अब्बासी ने हिम्मत नहीं हारी और अपने दिव्यांग भाई का इलाज कराया।

साढ़े तीन साल बाद मैदान पर खिलाड़ी

दिव्यांग पहलवान ने अपनी हिम्मत के बल पर ही आगे बढ़कर अपने भविष्य को संवारने का सपना देखना शुरू कर दिया। वर्ष 2018 में जालंधर की एलपीवी विश्वविद्यालय में हुई डिस्कस थ्रो प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त किया। इसके साथ ही वर्ष 2019 नवंबर में पटना स्टेडियम में व्हील चेयर रग्बी प्रतियोगिता का आयोजन हुआ। वर्ष 2020 में ही गाजियाबाद में 5 वीं पैरा एथलीट चैंपियनशिप स्टेट प्रतियोगिता में डिस्कस थ्रो में दूसरा स्थान शाहरूख ने प्राप्त किया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.