बागला कालेज के प्राचार्य ने परखी व्यवस्था

महाविद्यालय में बुधवार को संभाला कार्यभार गुरुवार को विभिन्न संकायों व कक्षाओं का किया निरीक्षण।

JagranFri, 03 Dec 2021 12:51 AM (IST)
बागला कालेज के प्राचार्य ने परखी व्यवस्था

संवाद सहयोगी, हाथरस : आयोग से भेजे गए डा. महावीर सिंह छोंकर ने बुधवार को बागला महाविद्यालय के प्राचार्य पद पर कार्यभार ग्रहण किया। चार्ज लेने के बाद गुरुवार को प्राचार्य ने महाविद्यालय के विभिन्न संकायों व कक्षाओं का औचक निरीक्षण कर हकीकत देखी।

बागला महाविद्यालय के प्राचार्य डा. महावीर सिंह छोंकर ने महाविद्यालय में भौगोलिक निरीक्षण कर पठन-पाठन के उदात्तीकृत वैविध्य को विस्तारित करने का संकल्प किया। विद्यार्थियों से रूबरू होते हुए डा. छोंकर ने महाविद्यालय में नैक का निरीक्षण कराने की बात कही। प्राचार्य ने विस्तृत और विराट की विचार-चेतना से कार्य करने का ²ढ़ संकल्प व्यक्त किया। महाविद्यालय का निरीक्षण करते हुए प्राचार्य डा. महावीर सिंह छोंकर ने कक्षाओं में पठन-पाठन के औदात्य का वैविध्य निरूपित करने का संकल्प लेकर विद्यार्थियों को पुस्तकालय के उपयोग-प्रयोग का परामर्श दिया। भौगोलिक निरीक्षण करते हुए प्राचार्य डा. छोंकर ने कहा कि महाविद्यालय में अन्तरराष्ट्रीय संगोष्ठी कराकर स्तरीय वैचारिक क्रियान्वयन को मूर्त रूप दिया जाएगा। विद्यार्थियों से रूबरू होते हुए प्राचार्य ने कहा कि उनकी सभी समस्याओं का निराकरण करना उनकी प्राथमिकता होगी। इस अवसर पर डा. रजनीश कुमार, डा. राजेश कुमार हिदी, डा. देवदत्त सिंह, डा. दानिश मुहम्मद, डा. सुनंदा महाजन, डा. प्रेमप्रकाश, डा. कौशलेश सिंह, डा. दीपा ग्रोवर, डा. रमा शर्मा, डा. सत्यदेव पचौरी, डा. डीके सिंह मौजूद रहे।

डीएम ने दिए छात्राओं को प्रमाण पत्र

बागला महाविद्यालय की चार छात्राओं को जिलाधिकारी रमेश रंजन ने छात्रवृत्ति के प्रमाणपत्र प्रदान किए। महाविद्यालय के प्राचार्य डा. महावीर सिंह छोंकर ने हर्ष व्यक्त कर छात्राओं को शुभकामनाएं दी हैं। बीएससी प्रथम वर्ष की छात्रा गुनगुन वर्मा, सुमायला, प्रीति, बीएड प्रथम वर्ष की छात्रा को जिलाधिकारी ने छात्रवृत्ति प्रमाणपत्र प्रदान किए। प्राचार्य डा. छोंकर डा. रजनीश, डा. राजेश कुमार हिन्दी, डा. दानिश मुहम्मद आदि ने छात्राओं को शुभकामनाएं दी हैं।

अनुपस्थित दर्शाए जाने पर

शिक्षकों में पनपा आक्रोश

संस, हाथरस : अकादमिक रिसोर्स पर्सन के कंधों पर विद्यालयों में शैक्षिक सपोर्ट करने की जिम्मेदारी है, लेकिन शैक्षिक सपोर्ट की जगह निरीक्षण कर रहे हैं। 27 नवंबर को 12 शिक्षक व शिक्षिकाओं को अनुपस्थित दर्शा दिया, जबकि कई अवकाश स्वीकृत कराकर गए थे। कुछ बीएलओ की ड्यूटी में थे। बेसिक शिक्षा विभाग के शिक्षकों की ड्यूटी विभिन्न कार्यों में लगाई गई है। जिसके कारण ऐसे शिक्षक-शिक्षिकाएं अपने स्कूलों में उपस्थित नहीं रह पा रहे हैं। इस प्रकार के शिक्षकों ने पत्र व्यवहार रजिस्टर में भी अपनी ड्यूटी के बारे में दर्शा रखा है, फिर भी शिक्षक-शिक्षिकाओं को स्कूल में निरीक्षण करने पहुंच रहे विभागीय लोग अनुपस्थित दर्शा रहे हैं। इस बात को लेकर शिक्षकों में आक्रोश है। 27 नवंबर को एआरपी, डायट मेंटर, एसआरजी द्वारा किए गए स्कूलों के निरीक्षण में 12 शिक्षक-शिक्षिकाओं को अनुपस्थित दर्शाया गया है, जबकि इनमें से कई शिक्षक शिक्षिकाएं बीएलओ के कार्य में अपनी भूमिका निभा रहे थे। वहीं कुछ विभाग की अनुमति से अवकाश पर थे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.