यूपीएससी की परीक्षा में नगला केशव के लाल की 591वीं रैंक

-यूपी पीसीएस-2019 बैच की परीक्षा में कर चुके हैं यूपी टाप फिलहाल मथुरा में रहकर पिता कर रहे हैं पुरोहित का कार्य।

JagranMon, 27 Sep 2021 04:02 AM (IST)
यूपीएससी की परीक्षा में नगला केशव के लाल की 591वीं रैंक

जासं, हाथरस : आठ साल पहले हाथरस जंक्शन के गांव नगला केशव से मथुरा गए शिव प्रकाश सारस्वत के छोटे बेटे विशाल सारस्वत ने यूपीएससी परीक्षा में सफलता हासिल की है। उनकी 591वीं रैंक आई है।

विशाल सारस्वत ने बचपन से ही बड़ा अफसर बनने का सपना देखना शुरू कर दिया था। पिता बताते हैं कि बचपन में स्कूल में अधिकारी निरीक्षण को आते थे, तब उन्हें देखकर अफसर बनने का सपना देखा था। पिता आठ साल पहले गांव छोड़कर मथुरा चले गए। पीसीएस की परीक्षा में यूपी टाप करने के बाद विशाल की अगली मंजिल यूपीएससी की मुख्य परीक्षा थी। उन्हें आइएएस बनना था। दिल्ली में रहकर पढ़ाई की। विशाल रोज पांच- छह घंटे पढ़ाई करते थे। मथुरा में बीएसए कालेज रोड पर रह रहे विशाल सारस्वत के पिता शिवप्रकाश सारस्वत पुरोहित का काम करते हैं। विशाल एपीजे अब्दुल कलाम को अपना आदर्श मानते हैं। वह दो भाई और एक बहन में सबसे छोटे हैं। बड़े भाई गोविद इसरो बेंगलुरु में प्रशासक हैं तो बड़ी बहन ज्योति लखनऊ में प्राइवेट स्कूल में पढ़ाती हैं।

बचपन से थे मेधावी : विशाल ने एलकेजी से लेकर हाईस्कूल तक पढ़ाई महाराष्ट्र के अहमद नगर में रहकर की। वर्ष 2011 में हाईस्कूल में 85 फीसद अंक हासिल किए। इंटरमीडिएट की पढ़ाई एटा में रहकर की। एटा के सेंट पॉल स्कूल में 2013 में इंटरमीडिएट की परीक्षा 90 फीसद अंकों के साथ पास की। मथुरा के बीएसए कालेज से अर्थशास्त्र में बीए किया। इसमें 70 फीसद अंक हासिल किए। इसके बाद केआर कालेज मथुरा से पोस्ट ग्रेजुएशन किया और प्रशासनिक सेवाओं की परीक्षा की तैयारी करते रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.