चांद का हुआ दीदार, आज मनाएंगे ईद-उल-फितर

चांद का हुआ दीदार, आज मनाएंगे ईद-उल-फितर

कोरोना संक्रमण के कारण न हाथ मिलाएंगे और न ही गले मिलेंगे दूर से ही एक-दूसरे को देंगे मुबारकबाद।

JagranFri, 14 May 2021 01:04 AM (IST)

जांस, हाथरस : गुरुवार को चांद दिखाई देने के बाद शुक्रवार को उल्लास के साथ ईद-उल-फितर का त्योहार मनाया जाएगा। कोरोना महामारी को देखते हुए ईद की खुशियां इस बार सिमट कर रह गई हैं। ईदगाह और मस्जिदों में सार्वजनिक रूप से नमाज नहीं पढ़ी जाएगी। समाज के लोग घरों में नमाज पढ़कर बिना हाथ मिलाए और गले मिले दूर से ही एक दूसरे को मुबारकबाद देंगे। गुरुवार को भी ईद को लेकर बाजारों में लोगों ने जमकर खरीदारी की गई।

मुस्लिम समाज के लोगों के लिए इस बार भी ईद का त्योहार कोरोना की दूसरी लहर के बीच मन रहा है। पिछले साल भी यही स्थिति रही थी। कोरोना संक्रमण से बचने के लिए इस बार भी त्योहार सीमित रखा गया है। नमाज भी घर पर ही हो सकेगी। ईदगाह और मस्जिदों में नमाज न होने के कारण कोई निश्चित समय नहीं रखा गया है। शहर में मुरसान गेट स्थित ईदगाह में भी ताला लगा हुआ है। मुस्लिम इंतजामिया कमेटी के सदर हाजी रिजवान अहमद कुरैशी ने बताया नमाज पढ़ने के लिए कोई निश्चित समय नहीं रखा गया है। घरों पर अपनी सुविधा के अनुसार आठ से दस बजे के बीच कभी भी नमाज पढ़ सकते हैं। नमाज के बाद गले मिलने से परहेज करें। कोविड की गाइड लाइनों का पूरी तरह पालन करें। गुरुवार को इलाका पुलिस के साथ ईदगाह का निरीक्षण भी किया गया। आसमान में बादल होने के कारण चांद देखने में दिक्कत रही। 7.35 बजे चांद दिखाई दिया।

वहीं सिकदराराऊ में कुरैशियान मस्जिद के इमाम हाफिज समी अख्तर उर्फ हीरो हाफिज ने कहा है कि ईद के त्योहार पर सभी लोग शांतिपूर्ण तरीके से अपने घरों पर रहकर नमाज अदा करें। कोरोना संक्रमण के चलते हमारे बहुत से साथी हमसे बिछड़ चुके हैं। उनके लिए दुख व्यक्त करें। मास्क का प्रयोग करें। एक स्थान पर अधिक लोग एकत्रित न हों। शासन प्रशासन का सहयोग करें। जो लोग कोरोना संक्रमण से परेशान हैं, उनकी हर तरीके से मदद करें। यह त्योहार मनाने से ज्यादा महत्वपूर्ण है।

शारीरिक दूरी का पालन करें

सादाबाद : एसडीएम राजेश कुमार ने कहा है कि ईद की नमाज ईदगाह पर आयोजित की जाती थी, कितु संक्रमण के कारण अब नमाज सिर्फ घरों में ही सीमित रहेगी। किसी भी मस्जिद पर ईद की नमाज नहीं होगी। सभी मस्जिदों के मौलवी तथा रहनुमाओं से नमाज अदा करने की मनाही की गई है। इसलिए मुस्लिम समाज के सभी लोग अपने घरों में ही शारीरिक दूरी बनाकर ईद की नमाज अदा करें।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.