50 दिन से गौरव को ढूंढ़ रही थी पुलिस

50 दिन से गौरव को ढूंढ़ रही थी पुलिस

चार टीमें अलग-अलग राज्यों में गई थीं तलाश करने इंटरनेट मीडिया पर बैनरों में खुद को सपा नेता बताता था गौरव।

JagranWed, 21 Apr 2021 04:45 AM (IST)

जासं, हाथरस : सासनी के गांव नौजरपुर के किसान अमरीश शर्मा के हत्या का मुख्य आरोपित गौरव शर्मा 50 दिन से पुलिस के लिए सिरदर्द बना हुआ था। एक मार्च को हत्याकांड के बाद से ही पुलिस उसकी तलाश में जुटी थी। टीमें कई राज्यों में जाकर तलाश कर रही थीं लेकिन वह हाथ नहीं आ रहा था। मंगलवार रात मुठभेड़ में पकड़े जाने से पुलिस को राहत मिली है।

किसान अमरीश शर्मा की हत्या के बाद उनकी बेटी का मार्मिक वीडियो वायरल होने पर देशभर में लोगों में गौरव के प्रति उबाल था। मृतक की दोनों बेटियों ने आरोपित गौरव के एनकाउंटर की मांग की थी।

गौरव शर्मा ने अपनी फेसबुक आइडी पर रसूख दिखाते हुए असलहों के साथ फोटो पोस्ट किए थे। यहां तक कि वह खुद को सपा नेता बताता था, लेकिन सपा नेताओं ने इससे पल्ला झाड़ लिया था। इस चर्चित हत्याकांड में मुख्यमंत्री के संज्ञान लेने के बाद हाथरस पुलिस सरगर्मी से उसकी तलाश में जुटी थी। सर्विलांस की मदद ली जा रही थी, लेकिन गौरव के मोबाइल फोन की मदद न लेने के कारण वह पकड़ से दूर था। पुलिस उसकी संपत्ति कुर्क कराने के लिए कोर्ट में आवेदन भी कर चुकी थी।

मुठभेड़ के बाद एसपी विनीत जायसवाल, सीओ रुचि गुप्ता और अन्य अधिकारी सासनी कोतवाली के बाद जिला अस्पताल भी पहुंचे और पूरे घटना की जानकारी ली।

इस तरह हुई मुठभेड़ :

एसपी विनीत जायसवाल के अनुसार मंगलवार की रात मुखबिर की सूचना पर सासनी, हाथरस गेट पुलिस और एसओजी टीम ने सासनी-इगलास रोड पर चेकिग कर रही थीं। रात करीब 10 बजे तोछीगढ़ के पास बिना नंबर की क्रेटा कार को पुलिस ने रुकवाया। उसमें तीन लोग थे। दो लोग फायरिग करते हुए कार से उतरकर भागे। पुलिस ने उनकी घेराबंदी की। इस बीच एक युवक कार लेकर भाग गया। दोनों खेतों की तरफ छिपकर पुलिस पर फायरिग करते रहे। जवाबी फायरिग कर पुलिस ने दोनों को दबोच लिया। इनमें एक गौरव शर्मा था, जबकि दूसरा सोनू तोमर उर्फ श्याम सिंह निवासी चिते का पुरा थाना दिमनी जिला मुरैना। गौरव के दोनों पैरों में गोली लगी है जबकि सोनू के एक पैर में गोली लगी है।

सोनू ने की थी प्रॉपर्टी डीलर की हत्या

गौरव के साथ मुठभेड़ में पकड़ा गया बदमाश सोनू भी शातिर अपराधी है। वह मध्यप्रदेश के चर्चित परमाल गैंग का सदस्य है। इस गैंग ने जुलाई 2019 में ग्वालियर में प्रॉपर्टी डीलर पंकज सिकरवार की हत्या की थी। उसमें शूटर सोनू तोमर भी शामिल था। इसके साथ-साथ मुरैना जनपद में भी कई घटनाओं को वह अंजाम दे चुका है। ग्वालियर में हत्या को लेकर उसके खिलाफ आइजी की तरफ से 30 हजार रुपये का इनाम घोषित था। वहीं मुरैना पुलिस ने भी उस पर 10 हजार रुपये का इनाम घोषित कर रखा था। मुठभेड़ में उसके पकड़े जाने की जानकारी ग्वालियर पुलिस को दे दी गई है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.