सुनिए सर, एफआइआर से नहीं लगता है हमें डर

सुनिए सर, एफआइआर से नहीं लगता है हमें डर

मतदान स्थल पर पहुंचने से पहले ही हो गई पोलिग पार्टी में रार सेक्टर मजिस्ट्रेट से लेकर अफसर तक पहुंचा झगड़ा शांत कराया।

JagranThu, 15 Apr 2021 04:46 AM (IST)

जागरण संवाददाता, हाथरस : हाथरस ब्लाक क्षेत्र के मतदान केंद्रों के लिए पोलिग पार्टियां बुधवार की सुबह से ही एमजी पॉलीटेक्निक परिसर से रवाना होने की तैयारी कर रही थीं तभी एक पोलिग पार्टी के पीठासीन अधिकारी और महिला मतदान अधिकारी में तनातनी हो गई। बात मामूली सी थी कि देर से आए पीठासीन अधिकारी ने मतदान अधिकारी को वोटरलिस्ट आदि की सामग्री की बैग लाने को कह दिया। ना-नुकर करने पर मतदान अधिकारी को धमकी दे दी कि एफआइआर करा दूंगा। इस पर महिला मतदान अधिकारी ने कहा, सुनिए सर, हम किसी एफआइआर से नहीं डरते हैं। ये बखेड़ा काफी देर तक होता रहा। बाद में शांत कराकर पोलिग पार्टी को रवाना कर दिया गया।

हुआ कुछ यूं कि जलेसर रोड स्थित मतदान केंद्र मिर्जापुर जाने के लिए पोलिग पार्टी को दोपहर में रवाना होना था। सुबह सात बजे दो मतदानकर्मी महिला और पुरुष एमजी पॉलीटेक्निक हाथरस परिसर में पहुंच गए, मगर पीठासीन अफसर सुबह 10 बजे तक भी नदारद थे। 10 बजे के बाद जैसे वह आए तो उन्होंने महिला और पुरुष मतदान कर्मी को सामग्री का थैला और मतपेटिका लेकर बस पर आने को कहा। इस पर महिला और पुरुष दोनों मतदानकर्मी भड़क गए और बोले कि आप तीन घंटे देरी से आ रहे हैं और हमें हुक्म सुना रहे हैं। इस पर पीठासीन अधिकारी ने कहा कि अनुशासन में रहो वरना एफआइआर करा दूंगा। इस पर महिला कर्मी का पारा सातवें आसमान पर पहुंच गया। हंगामे जैसी स्थिति देख मामला सेक्टर मजिस्ट्रेट के पास पहुंचा तो उन्होंने पीठासीन अधिकारी से कहा कि ऐसा नहीं बोलना चाहिए। बात बढ़ती गई तो मामला फिर ईओ नगर पालिका विवेकानंद गंगवार के पास पहुंचा। उन्होंने पीठासीन अधिकारी की तरफदारी करते हुए कहा कि नगर पालिका में ये अवर अभियंता हैं। कैसे भी इलेक्शन तो कराना है। लड़ने-झगड़ने से काम नहीं होना चाहिए। इस पर महिला कर्मी ने कहा कि सर, एफआइआर से डर नहीं लगता। स्वाभिमान अपना भी है। मगर थोड़ी देर बाद मामला शांत हो गया और पोलिग पार्टी रवाना कर दी गई।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.