दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

जिले में मतगणना के दौरान छाया रहा इंटरनेट मीडिया

जिले में मतगणना के दौरान छाया रहा इंटरनेट मीडिया

खूब किया गया वाट्सएप व फेसबुक का प्रयोग घर बैठे लोग लेते रहे मतगणना की जानकारी।

JagranMon, 03 May 2021 04:49 AM (IST)

संवाद सहयोगी, हाथरस : त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों में इंटरनेट मीडिया छाया रहा। मतों की गिनती शुरू होते ही लोगों ने घरों में टीवी पर न्यूज चैनल शुरू कर दिए। वहीं अधिकतर लोगों ने मतगणना के दौरान पल-पल की जानकारी के लिए इंटरनेट या फिर मोबाइल से चिपके रहे।

पंचायत चुनावों के लिए मतगणना का कार्य रविवार की सुबह आठ बजे से शुरू हो गया था। लाकडाउन के चलते सभी को मतगणना स्थल तक पहुंचने की आजादी नहीं थी। लोगों ने घरों में टीवी चलाकर मतगणना पर नजर रखना शुरू कर दिया। इसके अलावा लोगों ने इंटरनेट के माध्यम से मोबाइल पर जुड़े रहे। इसके माध्यम से वह जिला पंचायत से लेकर ग्राम प्रधान व बीडीसी के रुझान व परिणामों पर नजर रखे हुए थे। वैश्विक महामारी कोरोना के संक्रमण से बचने व कोविड के नियमों के पालन के लिए इंटरनेट मीडिया सशक्त माध्यम बन गया है। ललित कुमार बताते हैं कि इंटरनेट मीडिया पर मतगणना संबंधी सभी जानकारी आसानी से मिल रही है।

साझा के किए सुझाव : इंटरनेट मीडिया अपडेट रहने का सशक्त माध्यम बन गया है। चुनावों में भी यह छाया रहा। लोगों के साथ सबसे अधिक इसका क्रेज युवाओं में बना हुआ था। इसमें फेसबुक, वाट्सएप पर जानकारी करने के साथ अपने सुझाव भी लोगों द्वारा शेयर किए जा रहे थे। वहीं जीते हुए प्रत्याशियों को बधाइयां लोगों के साथ दी जा रही थीं। बीडीसी का पद पर जीतने वालों को लुभावने ऑफर

जासं, हाथरस : अभी त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के सभी परिणाम सामने नहीं आए हैं। उससे पहले ही जीतने वाले क्षेत्र पंचायत सदस्यों को ऑफर मिलना शुरू हो गया है। यही सदस्य ब्लॉक प्रमुख का चयन करेंगे। इसलिए ब्लॉक प्रमुख पद के दावेदारों ने उनसे संपर्क करना शुरू कर दिया है। अपने समर्थन में लेने के लिए लुभावने ऑफर भी दिए जा रहे हैं। जीतने वाले कुछ बीडीसी सौदेबाजी भी करने लगे हैं। कुछ ब्लॉक प्रमुख पद के दावेदार ऐसे हैं, जिनके पति पिछली बार ब्लॉक प्रमुख रहे थे। वे एक बार फिर अपने घर में ही ब्लॉक प्रमुखी रखना चाहते हैं। ब्लॉक प्रमुख पद पर जनप्रतिनिधियों के बेटे भी दावेदार हैं। बीडीसी के पास वित्तीय व प्रशासनिक अधिकार नहीं होते हैं। सिर्फ क्षेत्र पंचायत की मीटिग में प्रस्ताव ही दे सकते हैं। इसके अलावा उनकी ब्लॉक प्रमुख के चयन में भूमिका है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.