त्योहारों को लेकर शासन की गाइडलाइन जारी

दुर्गा पूजा पंडाल व रामलीला मंच के स्थापना की अनुमति कुछ शर्तों के साथ ही मिलेगी।

JagranFri, 24 Sep 2021 01:34 AM (IST)
त्योहारों को लेकर शासन की गाइडलाइन जारी

जासं, हाथरस : शारदीय-नवरात्र (दुर्गा पूजा) सात अक्टूबर को शुरू होगा। इसके अलावा 15 अक्टूबर को विजय दशमी, दशहरा का पर्व मनाया जाएगा। इन त्योहारों को देखते हुए शासन की ओर से गाइडलाइन जारी की गई है।

शारदीय-नवरात्र (दुर्गा पूजा) एवं विजयदशमी, एवं रामलीला के मंचन के अवसर पर कोविड-19 महामारी के रोकथाम के लिए दिए गए दिशा-निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित किया जाएगा। दुर्गा पूजा पंडाल व रामलीला मंच के स्थापना की अनुमति प्रदान करते समय इस बात का ध्यान रखा जाएगा कि सार्वजनिक आवागमन प्रभावित न हो। मूर्तियों की स्थापना खाली स्थान पर की जाए, उनका आकार यथा संभव छोटा रखा जाए तथा मैदान की क्षमता से अधिक लोग न रहें। मूर्तियों के विसर्जन में यथा सम्भव छोटे वाहनों का प्रयोग किया जाए, मूर्ति विसर्जन कार्यक्रम में न्यूनतम व्यक्ति ही शामिल हों।

इन अवसरों पर भी विशेष सतर्कता एवं पुलिस बल की तैनाती का जाए। किसी भी धार्मिक स्थल पर क्षमता से अधिक लोगों की भीड़ एकत्र न होने पाए यह सुनिश्चित किया जाए। पुलिस एवं राजस्व विभाग के राजपत्रित अधिकारियों की ओर से स्थिति का अध्ययन कर लिया जाए। सभी उप जिला मजिस्ट्रेट, पुलिस क्षेत्राधिकारी, हाथरस अपनी-अपनी तहसील में संयुक्त रूप से पीस पार्टी की बैठकें करें। चेहल्लुम को लेकर प्रशासन की तैयारियां शुरू

इस वर्ष चेहल्लुम चंद्र दर्शन के अनुसार 28 सितंबर को मनाया जाना है। चेहल्लुम शांतिपूर्ण कराने के लिए पुलिस व्यवस्था पर जोर दिया गया है। िकहा गया है कि किसी भी धार्मिक स्थल पर क्षमता से अधिक लोगों की भीड़ एकत्र न होने पाए। चेहल्लुम पर सार्वजनिक स्थल यथा बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन और संवेदनशील स्थान, धार्मिक स्थलों पर चेकिग कराई जाए। सघन जांच एवं तलाशी की व्यवस्था के लिए स्वान-दल, आतंकवादी निरोधक दस्ता एवं बल निरोधक दल की तैनाती की जाए।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.