top menutop menutop menu

मुफ्त यात्रा से खिले बहनों के चेहरे

मुफ्त यात्रा से खिले बहनों के चेहरे
Publish Date:Tue, 04 Aug 2020 12:02 AM (IST) Author: Jagran

संवाद सहयोगी, हाथरस : रक्षाबंधन पर्व पर इस बार भी प्रदेश सरकार ने रोडवेज बसों में दो अगस्त की रात 12 बजे से तीन अगस्त की रात 12 बजे तक मुफ्त यात्रा की सुविधा दी। बसों की संख्या कम होने से बहनों को थोड़ी दिक्कतों का सामना जरूर करना पड़ा मगर मुफ्त सफर के सुख से उनके चेहरे खिल गए। डग्गेमार वाहनों ने भी अच्छी खासी कमाई की।

सोमवार को सुबह से ही रोडवेज बस स्टैंड पर यात्रियों की भीड़ थी। रोडवेज ने बेड़े की सभी 85 बसों को उतार दिया था। कई बार बसों की व्यवस्था संभालने के लिए पुलिस को पसीना बहाना पड़ा। तालाब चौराहा, हतीसा, रुहेरी, मेंडू रोड आदि स्थानों पर यात्री वाहनों का इंतजार करते दिखे।

ताक पर रहे नियम : यात्रियों की भीड़ के चलते बसों में शारीरिक दूरी व मास्क लगाने के नियमों का पालन कहीं नहीं दिखा। वहीं रोडवेज की वातानुकूलित बसों में मुफ्त सफर कर महिला यात्री खुश थीं। इस बार पर्व पर ट्रेनों की कमी यात्रियों को बहुत खली। भीड़ से बचने के लिए कुछ यात्रियों ने अपने दुपहिया व चार पहिया वाहनों का प्रयोग किया।

डग्गेमार वाहनों ने काटी चांदी :

ट्रेनों के नहीं चलने व बसों की संख्या कम रहने से टेंपो, मैजिक आदि डग्गेमार वाहन भी चोरी छुपे चले। इन्होंने जरूरतमंद यात्रियों से मनमाना किराया वसूला। जलेसर, अलीगढ़, आगरा, सिकंदराराऊ, इगलास आदि मार्गों पर डग्गेमार वाहन चलते दिखे। पर्व के चलते पुलिस ने वाहनों को रोकने या चेकिग करने में दिलचस्पी नहीं दिखाई।

जान जोखिम में डाल कर

बहनों ने किया सफर

संसू, सिकंदराराऊ : सोमवार को रक्षाबंधन पर रोडवेज बसों एवं डग्गेमार वाहनों में भारी भीड़ रही। पर्व मनाने को बहनों एवं भाइयों को जान जोखिम में डालकर यात्रा करनी पड़ी। डग्गेमार वाहनों ने अलीगढ़, एटा, कासगंज, हाथरस जाने के लिए 50 रुपये से 60 रुपये तक किराया वसूला।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.